देश की उभरती एथलीट गरिमा जोशी ने लगाई मदद की गुहार , हादसे के बाद हालात बेहद गंभीर




कहते है समय बड़ा बलवान है ये किसी को भी कभी भी ऐसा समय दिखा सकता है जिसकी मनुष्य उम्मीद भी नहीं कर सकता है जी हां ऐसी ही एक घटना हुई है उत्तराखण्ड़ की बेटी गरिमा जोशी के साथ। रानीखेत के चिलियानौला निवासी पूरन चंद्र जोशी की बेटी गरिमा जोशी, सोबन सिंह जीना परिसर अल्मोड़ा में बीए द्वितीय सेमेस्टर की छात्रा हैं। कुछ माह पूर्व गरिमा का चयन 27 मई को बंगलुरू में इंटरनेशनल एसोसिएट ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन की ओर से आयोजित होने वाली हाफ मैराथन के लिए हुआ। बंगलुरू में प्रैक्टिस से लौटते वक्त एक अज्ञात कार सवार ने गरिमा को टक्कर मार दी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई। दुर्घटना में उसकी रीढ़ की हड्डी और स्पाइनल कॉलर बुरी तरह टूट गए। जिसके उपचार पर लाखों रुपये का खर्च आ रहा है, जिसे वहन करने में उसका परिवार पूरी तरह से असमर्थ है।





घर की आर्थिक स्थिति पहले से ख़राब है – घर की स्थति भी ऐसी नहीं की इलाज के लिए पुरे रूपये हो सके गरिमा की माँ खुद कैंसर से जूझ रही हैं और दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उपचार के चलते उनका एक पैर भी काटना पड़ा है। बेटी के लिए पिता पिता पूरन जोशी ने रानीखेत बाजार से 10 फीसदी मासिक दर से जमीन और मकान गिरवी रखा है। बहुत मशक्त के बाद 5 लाख रुपये का कर्जा लेकर वो अपनी बेटी की रीढ़ की हड्डी का आपरेशन करवा रहे हैं। सबसे दुःख की बात तो ये है की गरिमा की रीढ़ में 18 रॉड पड़ी हुई हैं। उसका स्पाइनल कॉर्नर टूट गया है और शरीर का निचला हिस्सा पैरालाइज हो रहा है। गरिमा के स्पाइनल कॉलर का करीब आठ हफ्ते का उपचार होना है, जिसमें सवा पांच लाख रुपये से अधिक का खर्च आना है।





मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बढ़ाया था हौसला- बंगलुरू रवाना होने से पहले गरिमा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिलने पहुंची। मुख्यमंत्री ने उसका हौसला बढ़ाते हुए 25 हजार रुपये की मदद भी जारी की।इस रेस में देश भर के प्रतियोगी शामिल होंगे और शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले धावक एशियाई खेलों के लिए क्वालिफाई करेंगे। अल्मोड़ा की 19 वर्षीय धावक गरिमा ने ज़ोन स्तर पर देहरादून में 800 मीटर दौड़ में रजत और 1500 तथा 3000 मीटर रेस में स्वर्ण पदक प्राप्त किया है।.इसके अलावा उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर भी अनेक राज्यों में लोंग रेस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया है ,प्रतियोगिता में गरिमा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए देशभर के करीब 11 हजार एथलीटों के बीच छठा स्थान हासिल किया।
आप भी करें गरिमा की मदद






सीएम रावत के साथ एथलीट गरिमा जोशी

आप भी गरिमा के उपचार में सहयोग कर सकते हैं-  अब बेटी की मदद के लिए आप सभी लोगो से गुहार लगाई जा रही है जितना हो सकता है अपना पूर्ण योगदान दीजिये । अधिक जानकारी के लिए उनके पिता पूरन चंद्र जोशी का मोबाइल नंबर 8938822456 पर संपर्क  कर सकते है। पीएनबी, द्वाराहाट में उनका खाता नंबर 6689000100024914 और आईएफएससी नंबर पीयूएनबी 0668900 है।

पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और बेटी को सरकार और आम जनता से मदद दिलाएं, नीचे किसी भी सोशल मीडिया पर आप शेयर कर सकते है ⇓
Content Declaimer

लेख शेयर करे

Comments

Devbhoomidarshan Desk

Devbhoomi Darshan site is an online news portal of Uttarakhand through which all the important events of Uttarakhand are exposed. The main objective of Devbhoomi Darshan is to highlight various problems & issues of Uttarakhand. spreading Government welfare schemes & government initiatives with people of Uttarakhand.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *