Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

देवभूमि दर्शन- राष्ट्रीय खबर

नहीं रहे पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रीकर, देश में शोक की लहर

बीते लंबे समय से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। इस दुखद खबर से पुरे देश में शोक की लहर है। इससे पहले उनकी हालत बेहद नाजुक बताई जा रही थी। 63 साल के परिकर अग्नाशय की गंभीर बीमारी से पीड़ित थे और यहां पास में डोना पौला में स्थित अपने निजी आवास में रह रहे थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर मनोहर पर्रिकर के निधन की पुष्टि की इसके साथ ही राष्ट्रपति ने ट्वीट कर मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुख जताया है। बताते चले की उन्हें 31 जनवरी को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती कराया गया था। एक साल से पैनक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे 63 वर्षीय मनोहर पर्रीकर सबसे पहले 14 फरवरी, 2018 को बीमार पड़े थे। इसके बाद उन्हें गोवा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। अगले दिन उन्हें मुंबई के लीलावती अस्पताल ले जाया गया। कुछ दिनों तक उनका अमेरिका में इलाज चला। पिछले साल 15 सितंबर को उन्हें नई दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया।




 मनोहर परिकर का राजनीतिक सफर : गोवा के वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर परिकर भारत के रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। परिकर का जन्म 13 दिसंबर 1955 को गोवा के मापुसा में हुआ था। वह भारत के किसी भी राज्य के पहले ऐसे मुख्यमंत्री थे जो आईआईटी से स्नातक थे। 1978 में उन्होंने आईआईटी मुंबई से स्नातक किया था। साल 2001 में आईआईटी मुंबई ने उन्हें विशिष्ट भूतपूर्व छात्र की उपाधि भी दी थी। भारतीय जनता पार्टी से गोवा के मुख्यमंत्री बनने वाले वह पहले नेता थे। 13 मार्च 2017 को परिकर ने चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। हाल ही में बीमार मुख्यमंत्री ने 3 मार्च को गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (जीएमसीएच) में चेक-अप कराया था। फरवरी में पर्रिकर का जीएमसीएच में एक ऑपरेशन भी हुआ था। अपने आखिरी दिनों में भी पर्रिकर काम में लगे रहे, बीमारी के दिनों में ही उन्‍होंने गोवा का बजट पेश किया और राज्‍य का काम बखूबी संभाला।




लेख शेयर करे
Continue Reading
You may also like...

More in देवभूमि दर्शन- राष्ट्रीय खबर

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top