Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
all image showing Alt Text

अल्मोड़ा

उत्तराखण्ड

पहाड़ की वादियों में लोगो के तालियों के गड़गड़ाहट के बीच गूंज उठी दक्ष कार्की की मार्मिक आवाज

all image showing Alt Text

“मंजिल यूँ ही नहीं मिलती राही को,
जुनून सा दिल में जगाना पड़ता है,
पूछा चिड़िया से कि घोसला कैसे बनता है,
वो बोली कि तिनका तिनका उठाना पड़ता है।”

उपरोक्त पंक्तियाँ हुनरमंद दक्ष कार्की के लिए एकदम सटीक बैठती है, जिसके जब दुनिया से हटकर अपने बचपन की दुनिया में खलने कूदने के दिन थे, तो दुखो का ऐसा पहाड़ टूट पड़ा की पूरी देवभूमि रो पड़ी थी। मात्र 7 साल के इस नन्हे बच्चे के हुनर की दास्ताँ बयां करती है, जिसने अपने दुखो से उभकर अपनी प्रतिभा से एक नयी मिसाल कायम की है। पहले यूटूब से लाखो लॉगो का दिल जीता वही अब मंच प्रोग्राम देकर लोगो के दिलो की धड़कन बन चूका है , हुनरमंद दक्ष कार्की।




यह भी पढ़े-दक्ष कार्की छा गया अपने गीत से उत्तराखण्ड के बड़े मंचो पर, एसएसपी द्वारा हुआ सम्मानित
उत्तराखंड के विख्यात लोकगायक स्व. पप्पू कार्की का सुपुत्र दक्ष कार्की अब यूट्यूब से उत्तराखण्ड के बड़े बड़े मंचो का सफर तय करने लगा है अब कह सकते है, नन्हा दक्ष कार्की पिता की विरासत को भली भांति संभाल सकता है। बता दे की अल्मोड़ा के लमगड़ा ब्लाक के माँ भगवती रामलीला कमेटी सत्यों में रामलीला के भव्य समापन के अवसर पर लोक गायक स्व. पप्पू कार्की के बेटे दक्ष कार्की ने कुमाऊंनी गीतों की शानदार प्रस्तुति दी। समापन दिवस की रामलीला का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने किया। दक्ष कार्की ने जैसे ही अपने पिता के सुप्रसिद्ध गीत को अपनी आवाज दी तो दर्शको की और से तालियों की गड़गड़ाहट भी शुरू हो गयी थी। सुप्रसिद्ध गीत सुन ले दगड़िया बात सुनी जा को जब दक्ष कार्की ने अपनी आवाज दी तो मानो ऐसा प्रतीत हो रहा था पहाड़ो में फिर से स्व. पप्पू कार्की के स्वर गूंज रहे होंगे। दक्ष के इस गीत ने जहाँ लोगो की आंखे नम की वही लोगो ने भी नन्हे कलाकार को खूब आशीर्वाद दिया।



यह भी पढ़ेउत्तराखण्ड की मशहूर लोकगायिका कबूतरी देवी के गीत को दी थी स्वर्गीय पप्पू कार्की ने अपनी आवाज
रामलीला कमेटी की ओर से दक्ष कार्की को 14000 रुपये की नकद धनराशि: मुख्य अतिथि कुंजवाल ने दक्ष को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया। वहीं मां भगवती रामलीला कमेटी की ओर से दक्ष कार्की को 14000 रुपये की नकद धनराशि देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के संयोजक दीवान सतवाल ने कहा पप्पू कार्की सत्यों की रामलीला कमेटी का एक सदस्य के रूप मे काम करते थे। हर वर्ष की रामलीला में अपने मधुर गीतों से यहां युवाओं व महिलाओं में जोश भरने का काम किया करते थे। इस दौरान कार्यक्रम मे स्व. पप्पू कार्की की पत्नी कविता कार्की को भी सम्मानित किया। इसके अलावा लोक गायक संदीप सोनू, गौरव जसवाल की टीम ने देर रात तक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी। इस मौके पर कमल आर्य, हरीश बनौला, पूर्व प्रमुख महेंद्र सिंह मेर, जिला पंचायत सदस्य दीपा सतवाल, राजेश अधिकारी, पान सिंह सतवाल, गोविन्द सिंह सतवाल, विजय सतवाल, दीवान सिंह, विनीत बोरा, नवल रावत, मनोज रावत, रमेश, प्रताप राम, रमेश बिष्ट, रमेश बोरा, हरीश डसीला, बच्ची बोरा, हंसा तिवारी आदि मौजूद रहे।




लेख शेयर करे

More in अल्मोड़ा

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top