Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

उत्तराखण्ड

देहरादून

उत्तराखण्ड दर्दनाक हादसा : गहरी खाई में गिरी स्कूटी युवक युवती की मौत, पुलिस ने चलाया रेस्क्यू अभियान

<img src =" scooty accident.jpg"alt= " accident">उत्तराखण्ड में बढ़ते सड़क हादसों ने लोगो में दहशत का माहौल बना रखा है , वाहन लेकर निकलने वाला हर व्यक्ति कही न कही अपने को असुरक्षित महसूस कर रहा है। खबर देहरादून से है जहाँ सात मोड़ के समीप एक स्कूटी अनियंत्रित होकर 600 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। बताया जा रहा है की स्कूटी रानीपोखरी की और से आ रही थी। इस दुर्घटना में स्कूटी सवार एक युवक और युवती की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना स्थल पर तुरंत स्थानीय लोग पहुंच गए और पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस की तीन टीमों ने गहरी खाई में उतरकर युवक और युवती के शव को बाहर निकाला। शवों को निजी वाहन से राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।




बता दे की शनिवार की देर शाम साढ़े पांच बजे देहरादून रोड पर सात मोड़ के समीप रानीपोखरी की ओर से आ रही एक स्कूटी यूके14ई-3547 अनियंत्रित होकर 600 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। कोतवाल रितेश शाह के अनुसार, मृतकों की पहचान 23 वर्षीय शुभम गुप्ता पुत्र रमेश गुप्ता निवासी चंद्रभागा और 20 वर्षीय गीता राजभर पुत्री अमरनाथ निवासी शीशम झाड़ी मुनिकीरेती के रूप में हुई।
पुलिस को चलाना पड़ा रेस्क्यू अभियान : स्कूटी इतनी गहरी खाई में जा गिरी थी की सामान्य रूप से शवों को नहीं निकला जा सकता था। जैसे ही पुलिस को दुर्घटना की सूचना मिली तो कोतवाली व चीता पुलिस की टीमें मौके पर पहुंच गई। जबकि दूसरी टीम ढालवाला के रास्ते खाई में उतरी। शव को बाहर निकालने में पुलिस टीम को तीन घंटे की मशक्कत करनी पड़ी। मामला शाम का था और अँधेरा भी हो चूका था जिसकी वजह से रेस्क्यू टीम को काफी परेशानी हो रही थी। लेकिन पुलिस टीम टॉर्च लेकर खाई में उतर गयी। अंदर इतना अँधेरा था की जब टॉर्च से काम नहीं चला तो पुलिस को आग जलानी पड़ी। पुलिसकर्मियों ने खुद की जान जोखिम डालकर अंधेरे में ही रेस्क्यू चलाया।




लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top