Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

उत्तराखण्ड

बागेश्वर

बागेश्वर का 13 वर्षीय गुमसुदा बेटा मिला, परिजनों ने किया देवभूमि दर्शन और सभी शेयरकर्ताओ का आभार व्यक्त



जहाँ सोशल मीडिया के अपने कई नुकसान है वही इसके कुछ फायदे भी लेकिन आज उन परिजनों के लिए यह इतना सशक्त माध्यम और कारगार सिद्ध हुआ जो अपने गुमसुदा बच्चे के लिए थक – हार कर सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगा रहे थे। जी हाँ बागेश्वर जिले के कपकोट‌ तहसील के ग्राम पंडकुनी का 13 वर्षीय चंदन जो की बीते 2 फरवरी से स्कूल से लापता था। परिजन बेटे की तलाश में इधर उधर भटक रहे थे , और पुलिस में भी गुमसुदा की रिपोर्ट दर्ज करवाई। जब परिजन हर तरह से हिम्मत हार गए तो उन्होंने सोशल मीडिया की मदद ली और दिनांक 5 फ़रवरी को देवभूमि दर्शन पर एक गुमसुदा खबर प्रकाशित कराई जिसमे आम जनता से ” शेयर करे और बच्चे को ढूढ़ने में परिजनों की मदद करे” नाम से एक पोस्ट शेयर किया गया। देवभूमि दर्शन और बागेश्वर पुलिस के अथक प्रयासो के बाद बच्चा 6 फरवरी को मिल गया। इसके लिए चन्दन के परिजनों ने देवभूमि दर्शन और सभी शेयरकर्ताओ का आभार व्यक्त किया है।




यह भी पढ़े-कपकोट( बागेश्वर) का 13 वर्ष का चन्दन लापता , परिजनों ने लगाई सोशल मीडिया पर मदद की दरकार
गुमसुदा चन्दन के भाई ने किया सूचित : गौरतलब है की बागेश्वर जिले के कपकोट‌ तहसील के ग्राम पंडकुनी निवासी कुंजर सिंह का 13 वर्षीय पुत्र चंदन सिंह बीती 2 फरवरी से स्कूल से लापता था। जिसके लिए परिजन बहुत परेशान थे , और अंत में सोशल मीडिया की मदद लेनी पड़ी। देवभूमि दर्शन का आभार व्यक्त करते हुए चन्दन के बड़े भाई कमल दानू ने बताया की बच्चे को किसी ने हल्द्वानी रेलवे स्टेशन छोड़ दिया था, जहाँ बच्चा भटकता रहा,  हल्द्वानी में सोशल मीडिया में बच्चे के गुमसुदा की खबर वायरल होने के कारण किसी ने बच्चे के हीरानगर तिराहे में होने की  सूचना बागेश्वर पुलिस को दी और साथ ही बच्चे की परिजनों को भी सूचित किया गया। कमल ने बताया 6 फरवरी को चंदन हल्द्वानी अपने रिस्तेदारो के यही रहा और 7 फरवरी को बागेश्वर सकुशल अपने घर आ गया।
 “कमल ने देवभूमि दर्शन और सभी शेयरकर्ताओ का आभार व्यक्त किया है।”




लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top