Connect with us
Uttarakhand Government Coronavirus donate Information
alt="government launch one nation one ration card scheme in uttarakhand"

उत्तराखण्ड

देहरादून

उत्तराखंड सरकार ने दिया आम जनता को तोहफा, अब किसी भी दुकान से ले सकेंगे सस्ता राशन

one nation one ration card scheme: उत्तराखंड में लागू हुई वन‌ नेशन वन राशन कार्ड योजना, लाखों लोगों को मिलेगा फायदा..

दूसरे प्रदेशों से अपने घर-अपने पहाड़ लौटे प्रवासियों के साथ ही राज्यवासियों के लिए खुशखबरी है। अब प्रदेशवासियों को सस्ता-गल्ला विक्रेताओं से राशन पाने के लिए मिन्नतें नहीं करनी पड़ेगी और ना ही राशन ना मिलने पर दर-दर भटकना पड़ेगा। जी हां.. यह सब संभव हुआ है राष्ट्रीय खाद्य योजना से, जिसके तहत राज्य सरकार ने पूरे प्रदेश में “वन नेशन-वन राशन कार्ड योजना” (one nation one ration card scheme) को 1 जुलाई से लागू कर दिया गया है। इस योजना के लागू होने के बाद जहां राशनकार्ड धारक किसी भी सस्ते-गल्ले की दुकान से राशन ले पाएंगे वहीं लाकडाउन के कारण दूसरे प्रदेशों से वापस लौटे प्रवासियों को भी इस योजना से खासा फायदा होगा। क्योंकि योजना के तहत दूसरे राज्यों में बने राशन कार्ड से भी प्रवासियों को प्रदेश में सस्ता राशन मिलेगा। हालांकि वर्तमान में यह योजना प्रदेश की 9200 सस्ता गल्ला दुकानों में से केवल 7500 दुकानों में ही लागू हो पाएगी क्योंकि इन्हीं सस्ता गल्ला दुकानों में अभी तक बायोमेट्रिक मशीन लग पाई है।

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह होगी वन नेशन वन कार्ड योजना, बायोमेट्रिक मशीन पर अंगूठा लगाते ही मिल जाएगा सस्ता राशन:-

बता दें कि राज्य खाद्य आपूर्ति विभाग ने 1 जुलाई से प्रदेश में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना (one nation one ration card scheme) लागू कर दी है। बता दें कि यह योजना, राष्ट्रीय खाद्य योजना के तहत लागू की गई है। यह योजना मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह होगी अर्थात जिस तरह आप बिना नंबर बदले अपना सर्विस प्रोवाइडर बदल सकते हैं वैसे ही अब राशन कार्ड में बिना कोई बदलाव करवाए प्रदेश के किसी भी सस्ता गल्ला विक्रेता से सस्ता राशन ले पाएंगे। बताते चलें कि वर्तमान में प्रदेश में 9200 सस्ते गल्ला दुकानें हैं, जिनके माध्यम से प्रदेश के 23 लाख से अधिक राशन कार्ड धारकों को सस्ता राशन वितरित किया जाता है। राज्य के खाद्य आपूर्ति सचिव सुशील कुमार के अनुसार प्रदेश के 7500 दुकानों में वन नेशन वन राशन की योजना 1 जुलाई से शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि अभी केवल केवल 7500 दुकानों में बायोमेट्रिक मशीनें लग पाई हैं, जिस कारण यह योजना केवल सस्ते गल्ले की इन्हीं दुकानों पर लागू की गई है। अभी 1700 दुकानों में बायोमेट्रिक मशीन नहीं लग पाई है लेकिन जल्द ही इन दुकानों में भी बायोमेट्रिक मशीन लगाकर वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को संचालित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड : कांवड़ यात्रा 2020 शुरू होने से पहले ही हरिद्वार में कावड़ियो की एंट्री पर लगा बैन

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

VIDEO

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top