Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

उत्तराखण्ड

चम्पावत

बकरी दबा के भाग रहा था चालक ग्रामीणों ने दबोचा तो ऐसा रफूचक्कर हुआ की खुद की जिंदगी पर आ बनी



उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों में जहाँ सड़क हादसे कलंक बन चुके है, वही इसके लिए कुछ हद तक वो चालक भी जिम्मेदार हैं जो शराब पीकर वाहन चलाते है। ऐसा ही एक मामला चम्पावत जिले का सामने आया है, जहाँ बकरी दबा कर भाग रहे एक वाहन चालक की जान पर बन आई। ग्रामीणों से अपनी जान बचाने के लिए मैक्स चालक अनियंत्रित होकर गाड़ी भगा के रफू चक्कर होने के फ़िराक में था की वाहन अनियंत्रित होकर क्रश बैरियर के ऊपर चढ़ गया। क्रश बैरियर होने से वाहन गहरी खाई में जाने से बच गया। एक ग्रामीण ने चालक को वाहन से बाहर निकाला। वाहन से निकाले जाने के बाद चालक फरार हो गया। ग्रामीणों के अनुसार चालक के मुंह से शराब की दुर्गंध आ रही थी। अंत में ग्रामीणों ने बताया चालक वाहन छोड़कर टनकपुर की ओर भाग गया।




यह भी पढ़े-पहाड़ में युवक को भालू ने किया बुरी तरह घायल, आम जनता से लगाई मदद की दरकार
बता दे की बुधवार को मैक्स वाहन संख्या यूके 05 टीए 1179 चम्पावत से टनकपुर की ओर जा रहा था। वाहन चालक इतनी तेज रफ्तार में था की स्वाला निवासी ग्रामीण रमेश चंद्र भट्ट की बकरी दबा दी और वाहन लेकर भागने लगा। मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने चालक का पीछा करते हुए वाहन रोकने को लेकर आवाज लगाई। ग्रामीणों की आवाज सुनते ही चालक ने रफ्तार बढ़ा दी। तेज गति के कारण वह करीब 200 मीटर आगे जाकर सड़क किनारे लगे क्रश बैरियर से जा टकराया। इसके बाद बैरियर के ऊपर ही गाड़ी चढ़ गई और वाहन खाई में जाने से बच गया। हादसे में चालक को हल्की चोट आई। गनीमत रही कि वाहन में कोई सवारी नहीं थी। हादसा स्थल के पास होटल चलाने वाले स्थानीय ग्रामीण महादेव भट्ट ने चालक को वाहन से बाहर निकाला। उन्होंने बताया कि वाहन से बाहर निकालने के बाद चालक फरार हो गया। महादेव भट्ट का कहना है कि जिस जगह पर वाहन क्रश बैरियर में अटका है वहां पर गहरी खाई है। उनका कहना है कि वाहन अगर क्रश बैरियर में नहीं अटकता तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।




लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top