Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="missing child murder case uttarakhand"

उत्तराखण्ड

ऊधमसिंह नगर

उत्तराखण्ड: रविवार से लापता बच्चे का शव मिलने से परिजनों में मचा कोहराम, हत्या की आशंका

उत्तराखण्ड (uttarakhand) के काशीपुर में हुई घटना से हर कोई स्तब्ध, लापता होने से पहले मूक-बधिर बड़े भाई के साथ खेल रहा था मासूम..
alt="missing child murder case uttarakhand"

देवभूमि उत्तराखंड (uttarakhand) में भी अब अपराध चरम सीमा पर पहुंच गए हैं। इसका जीता जागता उदाहरण राज्य के उधमसिंह नगर जिले से सामने आ रहा है जहां एक दो साल के मासूम बच्चे का शव घर से कुछ दूर स्थित खाली जमीन पर पड़ा मिला। मानवता को शर्मशार करने वाली इस घटना से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। जो भी इस खबर को सुनकर रहा है उसके मुंह से अनायास यही निकल रहा है कि आखिर इस मासूम का कसूर क्या था और इतना कहते-कहते उसकी आंखें नम हो जा रही है। बता दें कि मृतक मासूम बीते रविवार की दोपहर को उस समय लापता हो गया था जब वह घर के बाहर खेल रहा था। अपने लाडले की मौत की खबर से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। परिजनों की आंखों से बह रही अश्रुओं की धारा रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। इसी बीच मृतक बच्चे की मां ने कोतवाली में तहरीर देते हुए उनके घर के नजदीक ही रहने वाले एक व्यक्ति पर शक जाहिर किया है। पुलिस ने मृतक बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस परिजनों के शक के आधार पर मामले की जांच में जुटी हुई है।




यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: चार साल पहले तक भीख मांगती थी चांदनी, अब मुख्य अतिथि बन बयां की अपनी दास्तां

मूक-बधिर बड़े भाई के साथ खेल रहा था मासूम, अचानक हुआ लापता:– प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य(uttarakhand) के उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर के पास के गांव ढकिया गुलाबो निवासी मान सिंह का दो वर्षीय बेटा राघव उर्फ अंशु, रविवार दोपहर 12 बजे उस समय लापता हो गया था जब वह अपने बड़े भाई हिमांशु के साथ घर के बाहर खेल रहा था। काफी खोजबीन के बाद भी जब राघव नहीं मिला तो परिजनों ने देर शाम को टाण्डा उज्जैन पुलिस चौकी में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस कर्मी रात भर लापता बच्चे को ढूंढते रहे लेकिन उसकी कोई खबर नहीं मिली। पुलिस को आज सुबह साढ़े छः बजे के आसपास मान सिंह के घर से दो सौ मीटर दूरी पर एक पानी से भरे खाली प्लाट में मासूम का शव बरामद हुआ। जैसे ही राघव की मौत की खबर परिजनों को मिली तो परिवार में कोहराम मच गया। रोते-बिलखते परिजनों ने राघव की हत्या की आंशका जताते हुए पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस को दी हुई तहरीर में राघव की मां ने उनके घर के पास ही सड़क किनारे स्थित मजार के गद्दीनसीन पर शक जाहिर किया है। बताया गया है कि मृतक का बड़ा भाई हिमांशु बोलने में अक्षम‌ है। मृतक के माता-पिता मजदूरी करते हैं।




यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड की बहादुर राखी को मिला राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार, खुशी से छलकी माता-पिता की आंखें

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top