Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand girl done father funeral"

उत्तराखण्ड

ऋषिकेश

उत्तराखण्ड : बेटी ने पूरी की पिता की अंतिम इच्छा, रूढ़ियां तोड़कर दी पिता की चिता को मुखाग्नि

uttarakhand: सुनैना ने बेटे का फर्ज‌ निभाकर की पिता की अंतिम इच्छा पूरी..
alt="uttarakhand girl done father funeral"

जहाँ हिन्दू धर्म में अंतिम संस्कार की प्रकिया को बेटे का अधिकार माना जाता है, वहीं आज फिर एक बेटी ने इस परंपरागत रूढ़ीवादिता को तोड़कर एक बेटे का फर्ज निभाया है। जी हां हम बात कर रहे हैं उत्तराखण्ड (uttarakhand) के ऋषिकेश निवासी सुनैना साहनी जिसने अपने पिता की चिता को मुखाग्नि देकर न सिर्फ रूढ़िवादी परम्पराओं को तोड़कर समाज के सामने एक नजीर पेश की अपितु बेटे और बेटी के बीच में अंतर समझने वाले लोगों को भी यह समझाने की चेष्टा कि बेटियां भी मुसीबत में बेटों से कहीं कम नहीं होती। श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के दौरान यह नजारा देखकर जहां हर शख्स की आंखे नम हो गईं इस बेटी पर गर्व भी हुआ कि उसने अपने पिता को जीवन के किसी भी मोड़ पर बेटे की कमी महसूस नहीं होने दी। यह वाकया आज पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है लोग इस वाकए के बारे में बातें कर अपनी फूल सी सुंदर बेटियों पर गर्व महसूस कर रहे हैं।


यह भी पढ़ें:- उत्तराखंड: दस आतंकियों का खात्मा करने वाले लेफ्टिनेंट कर्नल रावत को मिला बहादुरी का सेना मेडल

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य (uttarakhand) के ऋषिकेश के चंद्रेश्वर नगर निवासी रामजी साहनी की कैंसर से आकस्मिक मौत हो गई थी। बताया गया है कि मृतक रामजी साहनी की पांच बेटियां हैं। बता दें कि पिछले करीब ढाई साल से‌ कैंसर से पीड़ित रामजी साहनी ने मरने से पहले अपनी अंतिम इच्छा बताते हुए बेटियों से कहा था कि मरने के बाद उनकी बेटी ही उनको मुखाग्नि दे। पिता की इसी इच्छा को ध्यान में रखकर रामजी साहनी की तीसरी बेटी सुनैना साहनी ने सिर्फ श्मसान पहुंची बल्कि हिंदू धर्म के पारम्परिक रीति रिवाज को दरकिनार कर उसने अपने पिता की चिता को मुखाग्नि देकर एक बेटे का फर्ज‌ भी निभाया। इस अवसर पर सुनैना का कहना था कि पिता ने कभी भी हम पांचों बहनों को बेटों से कम नहीं समझा। उन्होंने भी पिताजी को कभी भी एक बेटे की कमी महसूस नहीं होने दी। राज्य की इस बेटी और उसकी सोच को देवभूमि दर्शन सलाम करता है।


यह भी पढ़ें:- उत्तराखण्ड: नैनीताल के भास्कर बने पीएम मोदी के सलाहकार,कुमाऊं विश्वविद्यालय से पासआउट

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top