Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

उत्तराखण्ड

ऊधमसिंह नगर

उत्तराखण्ड :दुल्हन के चाचा को तेज रफ्तार बस ने टक्कर मारकर बुरी तरह रौंदा , मौके पर ही मौत

राज्य में सड़क दुर्घटनाओं द्वारा मचाया गया कोहराम दिन-प्रतिदिन विकराल रूप धारण करता जा रहा है। आजकल शादियों के सीजन में तो इन सड़क दुर्घटनाओं ने दोगुनी रफ्तार पकड़ ली है। शायद ही कोई ऐसा दिन आ रहा होगा जिस दिन राज्य के किसी भी इलाके से कोई सड़क दुर्घटना की खबर ना सुनाई दे रही हों। शादियों के सीजन में हो रही इन बेलगाम सड़क दुर्घटनाओं ने अब तक न जाने कितने घरों की शादी की खुशियों को मातम में तब्दील कर दिया है। आज एक बार फिर राज्य के उधमसिंह नगर जिले से एक ऐसी ही दर्दनाक सड़क दुर्घटना की खबर आ रही है जहां शादी के पंडाल के बाहर खड़े दुल्हन के चाचा को एक तेज रफ्तार बस ने टक्कर मार दी जिससे वह बीच सड़क में जा गिरे इससे पहले कि वह संभल पाते बस ने उन्हें बुरी तरह कुचल दिया जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। एकाएक हुए इस हादसे से शादी की खुशियां मातम में बदल गई और परिवार में कोहराम मच गया। शनिवार को एक ओर जहां भतीजी की डोली उठी वहीं दूसरी ओर चाचा का पोस्टमार्टम के बाद अन्तिम संस्कार किया गया। हादसे के बाद आरोपी बस चालक फरार हो गया। हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने नानकमत्ता पुलिस की सहायता से आरोपी बस चालक को पकड़कर बस को अपने कब्जे में ले लिया है।




मातम में बदली भतीजी की शादी की खुशियां, अगले महीने होनी थी मृतक के छोटी बेटी की शादी-
प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के उधमसिंह नगर जिले के बरा निवासी रामचंद्र पुत्र नन्हे लाल की भतीजी पूजा की बारात शुक्रवार को रामपुर के मिलक से आई हुई थी। रात की शादी होने के कारण दुल्हन के चाचा रामचंद्र आधी रात को बरात के पंडाल के पास स्थित हाईवे पर खड़े थे। इस बीच सितारगंज की ओर जा रही एक तेज रफ्तार बस ने उन्हें टक्कर मारकर बुरी तरह कुचल दिया जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। आरोपी बस चालक इसके बाद बस सहित मौका-ए-वारदात से रफूचक्कर हो गया। हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शनिवार को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया तथा फरार बस चालक की सूचना सितारगंज एवं नानकमत्ता पुलिस थाने में भेजी। जिससे नानकमत्ता पुलिस ने आरोपी बस चालक को बस सहित दबोच लिया। बताया गया है कि मृतक रामचंद्र गांव में खेती करते थे और उनकी दो बेटियां और एक बेटा था। आगामी 10 जून को उनकी छोटी बेटी भानूमति की शादी होने वाली थी। हादसे के बाद जहां भतीजी की शादी की खुशियां मातम में बदल गई वहीं बेटी की शादी की तैयारियां भी धरी की धरी रह गई। हादसे की सूचना मिलने पर परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों का तो रो-रोकर बुरा हाल है।




लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top