Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand policeman murder"

उत्तराखण्ड

पिथौरागढ़

उत्तराखण्ड: मामूली सी बात पर हुई पुलिस जवान की हत्या, बेटे के जन्मदिन पर उठेंगी पिता की अर्थी

alt="uttarakhand policeman murder"

राज्य के पिथौरागढ़ जिले से एक दुखद घटना सामने आ रही है जहां पुलिस लाइन में तैनात एक पुलिसकर्मी को उसके साथी पुलिसकर्मी ने ही खाई में धक्का देकर मार डाला। मृतक पुलिसकर्मी का शव सोमवार को पांच दिन बाद खाई से बरामद हुआ। पुलिस ने आरोपी पुलिस कर्मी गिरीश जोशी के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया है कि आरोपी गिरीश जोशी दन्यां अल्मोड़ा के धूरा का रहने वाला है। मृतक की पहचान राज्य के उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर निवासी मोहित जोशी के रूप में की गई है। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपी गिरीश जोशी ने बताया कि 11 दिसंबर को उसके कमरे में किसी ने बाहर से कुंडी लगा दी थी। उसे इसका शक मोहित जोशी पर था। इसको लेकर दोनों में विवाद भी हुआ था। इसके बाद दो जनवरी को वह अपनी अल्टो कार से मोहित जोशी को अपने साथ लेकर गया और बांस रोड में कफलडुंगरी के पास जब मोहित पहाड़ी की ओर लघुशंका करने लगा तो गिरीश ने उसे खाई में धक्का दे दिया। इतनी छोटी सी बात पर एक पुलिस जवान के अपने साथी की इस तरह हत्या कर देने से सभी लोग हैरान हैं।




प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर के भीमनगर कुंडेश्वरी निवासी मोहित जोशी पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में तैनात था। वह अपनी पत्नी भारती जोशी और सात साल के बेटे के साथ वहीं रहता था। बीते दो जनवरी को वह अचानक लापता हो गया था। काफी खोजबीन के बाद पत्नी ने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। बताया गया है कि मृतक को अंतिम बार अपने एक सहकर्मी के साथ शराब भट्टी पर देखा गया था। पुलिस द्वारा सीसीटीवी फुटेज चेक करने पर उस सहकर्मी की पहचान गिरीश जोशी के रूप में हुई। पुलिस ने सहकर्मी कांस्टेबल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने मोहित की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया। उक्त कांस्टेबल की निशानदेही पर सोमवार की सुबह दस बजे मोहित का शव चंडाक, पिथौरागढ़ के वन क्षेत्र से बरामद हुआ। जवान की मौत की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। पत्नी भारती की तो आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।




बेटे के जन्मदिन पर आज घर से उठेगी पिता की अर्थी-: जिंदगी में नियति कब कौन-से मोड़ पर लाकर खड़ा कर दें इसके बारे में कोई नहीं जान सकता। इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिस बेटे और उसके परिवार को अपनी आंखों के सामने देखने के लिए नाती के जन्मदिन का इंतजार परिजन बेशब्री से कर रहे थे आज उसी नाती के जन्मदिन पर घर से उसके पिता मोहित की अर्थी उठेंगी। बता दें कि आज 7 जनवरी को मृतक मोहित जोशी के बेटे रौनक का पांचवां जन्मदिन है। मृतक मोहित ने अपने परिवार से रोनक के जन्मदिन पर अपने घर काशीपुर आने का वादा किया था और परिवार वाले भी इस दिन का इंतजार बेशब्री से कर रहे थे लेकिन उन्हें क्या मालूम था कि इस बार घर पर उनका बेटा मोहित नहीं अपितु उसका शव आऊंगा। इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि जिस बेटे के जन्मदिन पर घर आने का वादा मोहित ने अपने परिजनों से किया था, आज उसी के जन्मदिन पर घर से मोहित की अर्थी उठेंगी। बताया गया है कि मोहित जोशी ने जीआईसी प्रतापपुर से इंटर करने के बाद रामनगर डिग्री कॉलेज से बीए किया था और 9 अप्रैल 2006 को उसकी नियुक्ति उत्तराखंड पुलिस में बतौर कांस्टेबल हुई थी।




लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top