Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand forest fire"

उत्तराखण्ड

बागेश्वर

उत्तराखंड: पहाड़ में दुखद घटना ,जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं, मदद के लिए चिखती रही

uttarakhand: बागेश्वर में दुखद हादसा, दावाग्नि की भेंट चढ़ी दो महिलाएं..

जैसे-जैसे गर्मियां बढ़ती जाती है राज्य के जंगलों में भी दावाग्नि की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इस बार तो अभी इतनी गर्मी भी नहीं पड़ी है कि जंगल सुलगने लग ग‌ए है। दावाग्नि की एक ऐसी ही दुखद खबर राज्य के बागेश्वर जिले से आ रही है जहां जंगल की आग की चपेट में आकर दो महिलाएं जिंदा जल ग‌ई। जबकि उनके साथ ग‌ई तीसरी महिला ने बमुश्किल जंगल से भागकर अपनी जान बचाई। हादसे से मृतकों के परिवारों में कोहराम मचा हुआ है। बताया गया है कि तीनों महिलाएं जंगल में घास काटने गई थी। दोनों मृतकों में से एक महिला का शव शनिवार शाम को ही बरामद कर लिया गया था जबकि दूसरी महिला का शव रविवार सुबह बरामद हुआ। पुलिस ने दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिए हैं। घटना से पूरे क्षेत्र में मातम छा गया।


यह भी पढ़ें:- बागेश्वर पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल की नेक पहल: जरूरतमंदों को पुलिस मैस में खिलाएंगी भोजन

तीसरी महिला ने बमुश्किल भागकर बचाई जान:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के बागेश्वर जिले की कपकोट तहसील के चचई गांव निवासी नंदी देवी पत्नी मदन राम एवं इंदिरा देवी पत्नी तारा राम गांव की एक अन्य महिला के साथ शनिवार शाम को गांव के ही निकटवर्ती पुड़कुनी के जंगल में घास काटने गई थीं। बताया गया है कि जंगल में उस वक्त अचानक आग लग गई, शाम करीब सात बजे आग की चपेट में आने से नंदी देवी पत्नी मदन राम बुरी तरह जल गई और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। देर शाम को जब काफी देर तक महिलाएं घर नहीं पहुंची तो गांव वालों ने उनकी खोजबीन शुरू की और रास्ते में मिली तीसरी महिला ने उन्हें जंगल में आग लगने की सूचना दी, जहां उन्हें नंदी देवी का शव देर शाम को ही बरामद हो गया वहीं इंदिरा देवी पत्नी तारा राम का शव रविवार सुबह जंगल से बुरी तरह जली अवस्था में बरामद हुआ। हादसे के बाद से दोनों महिलाओं के परिजन सदमे में हैं। बता दें कि उक्त दोनों मृतक महिलाओं के साथ जंगल गई तीसरी महिला गंगा ने किसी तरह बमुश्किल जंगल से भागकर अपनी जान बचाई, भागते समय क‌ई बार गिरने से वह घायल भी हो गई।


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: रास्तों में फंसे लोगों का छलका दर्द बोले “एक बार पहाड़ पहुंच गए फिर नहीं जाएगें वापस”

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top