Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand soldier news"

उत्तराखण्ड

चम्पावत

उत्तराखण्ड: छुट्टी लेकर घर आ रहे कुमाऊं रेजिमेंट के जवान की ट्रेन में मौत पहाड़ में मचा कोहराम

uttarakhand: वर्तमान में शिलांग में तैनात था मृतक जवान, छुट्टियां लेकर आ रहा था अपने घर..alt="uttarakhand soldier news"

छुट्टियां लेकर घर आ रहे भारतीय सेना के एक वीर जवान की रास्ते में सफर के दौरान ट्रैन में हुए हादसे में मौत की दुखद खबर आ रही है। बताया गया है कि जवान राज्य(uttarakhand) के चम्पावत जिले का रहने वाला था और सेना की कुमाऊं रेजिमेंट में हवलदार के पद पर तैनात था। हादसे में जवान की मौत की खबर से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। जहां मृतक जवान के परिजनों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं वहीं मां और पत्नी बेसुध हैं। हादसा बीते बृहस्पतिवार की देर रात को लखनऊ-हरदोई ट्रेक पर होना बताया गया है। मृतक जवान का पार्थिव शरीर आज उनके घर पहुंचने की संभावना है जिसके बाद शारदा घाट पर उनका अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा। मृतक जवान अपने पीछे मां और पत्नी साथ-साथ दो छोटे-छोटे बच्चों सहित भाईयों का भरा-पूरा परिवार छोड़कर चले गए हैं। उनका एक बेटा शैलेश 11वीं कक्षा का छात्र है नन्ही मासूम परी जैसी बेटी कृतिका कक्षा 2 में पढ़ती है। जवान का एक भाई दिनेश चंद भी सेना की कुमाऊं रेजिमेंट से रिटायर्ड हैं और वो एक हादसे के बाद से कोमा में है।।


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड के पहाड़ों की बदहाली- डोली में अस्पताल ले जा रहे थे, खेत में ही दिया बच्चे को जन्म

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य(uttarakhand) के चम्पावत जिले के टकनपुर के मनिहारगोठ निवासी गजेंद्र चंद पुत्र स्व. रामी चंद भारतीय सेना की 12 कुमाऊं रेजिमेंट में हवलदार के पद पर तैनात थे। वर्तमान में गजेन्द्र की पोस्टिंग शिलांग में थी। बीते बुधवार को गजेन्द्र ड्यूटी से छुट्टी लेकर ब्रह्मपुत्र-जम्मूतवी एक्सप्रेस से घर आ रहे थे लेकिन जैसे ही उनकी ट्रैन लखनऊ-हरदोई ट्रेक पर पहुंची तो वह हरदोई के पास अचानक चलती ट्रेन से गिर ग‌‌ए जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची हरदोई पुलिस को परिचय पत्र से उनके सैनिक होने का पता चला और पुलिस कर्मियों ने तत्काल 12 कुमाऊं रेजिमेंट को हादसे की सूचना दी। जहां से बीते शुक्रवार को जवान के परिजनों को हादसे की खबर मिली। हादसे में जवान की मौत की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। मृतक जवान की पत्नी सरोज चंद और मां तुलसी देवी उर्फ बसंती दोनों इस दुखद खबर से बेसुध हैं। बताया गया है कि बीते शुक्रवार शाम को पोस्टमार्टम के बाद सेना के जवान मृतक जवान का पार्थिव शरीर लेकर उसकी घर की ओर रवाना हो गए हैं।


यह भी पढ़ें- पत्नी बीमार होकर पहुंची अस्पताल, सरकार को अभी तक नहीं आया लापता जवान राजेंद्र का ख्याल

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top