Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand road accident news"

उत्तराखण्ड

नैनीताल

उत्तराखण्ड: भीमताल झील में समा गई थी कार, रेस्क्यू ऑपरेशन कर कार और शव निकाले बाहर

uttarakhand: चालक से लिफ्ट लेकर ऑफिस जा रहा युवक भी पहुंच गया मौत के द्वार..alt="uttarakhand road accident news"

राज्य (uttarakhand) में सड़क दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य (uttarakhand) के किसी ना किसी हिस्से से लगभग रोज ही सुनाई देने वाली दर्दनाक सड़क दुर्घटना की खबर आज राज्य (uttarakhand) के नैनीताल जिले के भीमताल से आ रही है जहां एक कार के भीमताल झील में समा जाने से कार सवार दो लोगों की मौत हो गई। हादसे की सूचना मिलने पर दुर्घटनास्थल पर पहुंची एसडीआरएफ और पुलिस प्रशासन की टीम ने तुरंत रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर झील के अंदर गिरे वाहन का पता लगाया और क्रेन के द्वारा तुरंत कार को झील से बाहर निकालकर मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हादसे की खबर से मृतकों के परिवार में कोहराम मच गया। अभी तक हादसे का कारण कार का तेज रफ्तार में होना बताया गया है।


यह भी पढ़ें:- उत्तराखण्ड में पहाड़ से मैदान तक रोडवेज का सफर हुआ मंहगा.. देखिए नए किराए की सूची

बेरीकेडिंग तोड़कर झील में समाई तेज रफ्तार कार:- प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के नैनीताल जिले के भीमताल के हरशिखर होटल तल्लीताल के पास एक तेज रफ्तार टैक्सी कार अनियंत्रित होकर झील के अंदर घुस गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि वह झील के किनारे लगी बेरिकेडिंग तोड़कर झील में समा गई। हादसे के वक्त कार में चालक सहित दो लोग सवार थे। हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची एसडीआरएफ और पुलिस प्रशासन की टीम ने पहले सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक कर झील के अंदर गिरे वाहन का पता लगाया और फिर तुरंत रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर क्रेन की मदद से दुर्घटनाग्रस्त कार को झील से बाहर निकाला। दुर्घटनाग्रस्त कार से दो युवकों के शव बरामद हुए हैं। मृतकों की पहचान भीमताल निवासी कार चालक ललित कुमार पुत्र गोपालराम और हवालबाग अल्मोड़ा निवासी कुलदीप शाह पुत्र नंदलाल शाह के रूप में हुई है।‌ बताया गया है कि मृतक कुलदीप जलसंस्थान भीमताल में पंप ऑपरेटर के तौर पर कार्यरत था और आज सुबह वह कार चालक से लिफ्ट मांग कर आफिस जा रहा था।


यह भी पढ़ें:- उत्तराखंड: दस आतंकियों का खात्मा करने वाले लेफ्टिनेंट कर्नल रावत को मिला बहादुरी का सेना मेडल

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top