Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day

अल्मोड़ा

उत्तराखण्ड

अल्मोड़ा के 14 वर्ष के बच्चे के सर पर छत से गिरने से गंभीर चोट, परिजनों ने लगाई सोशल मिडिया पर मदद की गुहार

कहते है समय बड़ा बलवान है दुखो का पहाड़ कभी भी किसी के ऊपर टूट सकता है , और फिर जिंदगी में ऐसे दुःख कह के नहीं आते है , वरन आकस्मिक ही होते है। ऐसे ही दुखो का पहाड़ टूट पड़ा स्याल्दे, अल्मोड़ा के 14 वर्ष के गिरीश चंद्र पर जब वह छत से गिर गया और सर पर गंभीर चोटें आ गयी। जिसको तुरंत हल्द्वानी में भर्ती किया गया, चेकअप के बाद डाक्टरों ने इसका ऑपरेशन बताया है। ऑपरेशन का खर्च तक़रीबन दो लाख रूपये बताया है। घर की आर्थिक स्थिति सही नहीं है पिता शारीरिक रूप से विकलांग है, जैसे तैसे मजदूरी कर घर चल रहा है। परिजनों ने सोशल मीडिया पर बेटे के इलाज के लिए गुहार लगाई है , आप लोगो की एक छोटी सी मदद किसी को नया जीवन दे सकता है। आप लोग मदद कर पोस्ट को शेयर कर सभी तक पहुँचाए।




आभास स्याल्दे के अनुसार गिरीश 3 फरवरी को स्कूल की छत से गिर गया , जिसके दौरान सर पर गंभीर चोट आ गयी और कुछ समाजसेवी युवको की मदद से बच्चे को हल्द्वानी के विवेकानंद हॉस्पिटल, मुखानी में भर्ती कराया गया है। जहाँ जाँच में चिकित्सको  ने मस्तिष्क में पार्श्विक फ्रैक्चर बताया है, जिसका खर्च तक़रीबन दो लाख रुपए बताया है। पिता के बारे में  पता चला की वो कुछ शारीरिक रूप से विकलांग हैं। अपनी इस स्थिति की वजह से उनके लिए ये रकम जुटाना बहुत मुश्किल हो रहा है। गिरीश के पिता के पास जितना भी था उन्होंने शुरुआती इलाज में लगा दिया। अब आम जनता से मदद की गुहार लगी है तो  आप लोग बच्चे की मदद के लिए जरूर आगे आए। बच्चे के चाचाजी की बैंक डिटेल व उनके परिचित चंद्र प्रकाश कन्याल  का कांटेक्ट नंबर नीचे दिया गया है। आप अपनी सुविधानुसार पैसा भेज सकते हैं। कृपया मदद करें और पोस्ट को शेयर कर  ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचाए।





नाम – भुवन चंद्र हटेली
बैंक और ब्रांच- एसबीआई
अकॉउंट नो.-  11584775801
आईएफसी कोड – SBIN0005675
कांटेक्ट नंबर-  9410387154 (चंद्र प्रकाश कन्याल) इनसे आप बच्चे की स्थिति के बारे में पूछ सकते है।

शेयर कर  ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचाए⇓

लेख शेयर करे

More in अल्मोड़ा

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top