Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="women's boxer shorts uk nivedita karki"

उत्तराखण्ड

पिथौरागढ़

राष्ट्रीय स्तर के बाद अब पिथौरागढ़ की निवेदिता ने अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग में जीता स्वर्ण पदक

उत्तराखण्ड की बेटी निवेदिता ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में लहराया परचम…alt="women's boxer shorts uk nivedita karki"

बेटा भाग्य से और बेटी सौभाग्य से मिलती है। कुदरत की नियामत बेटियां जिस घर-परिवार में होती हैं, उस पर परवरदिगार की रहमत बरसती है। इन सूक्तियों की सार्थकता एक बार फिर पिथौरागढ़ जिले की निवेदिता कार्की ने सिद्ध की है। जी हां.. उत्तराखण्ड की होनहार बेटी निवेदिता कार्की ने गोल्डन गर्ल अंतरराष्ट्रीय जूनियर बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर सीमांत जनपद सहित पूरे राज्य का नाम विश्व पटल पर अंकित किया है। बता दें कि निवेदिता ने यह उपलब्धि फाइनल में आयरलैंड की मुक्केबाज को पराजित कर हासिल की। इस तरह निवेदिता की इस अभूतपूर्व उपलब्धि ने सम्पूर्ण राज्य को गौरवान्वित महसूस करने का सुनहरा अवसर प्रदान किया है। निवेदिता की इस उपलब्धि से सीमांत जनपद पिथौरागढ़ में हर्षोल्लास का माहौल है। क्षेत्र की नवनिर्वाचित विधायक चन्द्रा प्रकाश पंत सहित तमाम गणमान्य नेताओं ने इस उपलब्धि के लिए निवेदिता को बधाई दी है। बता दें कि अपने अब तक के छोटे से कैरियर में बड़े-बड़े प्रतिद्वंद्वियों को मात देने वाली निवेदिता द एशियन एकेडमी की भी होनहार छात्रा है।(women’s boxer shorts uk)

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड : स्कूली बच्चों को लेकर जा रहा वाहन पलटा, 24 छात्र घायल, एक की हालत गंभीर


निवेदिता इससे पहले राष्ट्रीय स्तर पर भी जीत चूकी हैं स्वर्ण पदक:- प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के पिथौरागढ़ जिले की रहने वाली निवेदिता कार्की गोल्डन गर्ल अंतरराष्ट्रीय जूनियर बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। मूल रूप से जिले के नेपाल सीमा से लगे दूरस्थतम रवाणा गांव निवासी निवेदिता कार्की ने यह उपलब्धि फाइनल मुकाबले में रविवार को आयरलैंड की मुक्केबाज को पराजित कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। बता दें कि यह अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता स्वीडन के बोरोस में 30 जनवरी से 3 फरवरी तक आयोजित की गई थी। इस बॉक्सिंग प्रतियोगिता में निवेदिता ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल तक का सफर तय किया और स्वर्ण पदक जीता। फाइनल मुकाबले में उन्होंने 48 किग्रा भार वर्ग में आयरलैंड की कैरलैग मारिया को 5-0 से पराजित किया। बताते चलें कि निवेदिता के पिता वीएस कार्की कस्टम विभाग में एक इमीग्रेशन अधिकारी के पद पर कार्यरत है जबकि उनकी माता एक कुशल गृहिणी है। निवेदिता इससे पहले भी सितंबर 2019 में रोहतक में आयोजित राष्ट्रीय जूनियर बॉक्सिंग प्रतियोगिता मे कांस्य और सितंबर 2018 में नागपुर में आयोजित सब जूनियर बालिका वर्ग की राष्ट्रीय बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक अपने नाम कर चुकी हैं। (women’s boxer shorts uk)

स्वीडन में प्रतियोगिता के फाइनल मैच में निवेदिता को विजयी घोषित करते रेफरी


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: जसुली दताल की धर्मशाला होगी हेरिटेज में तब्दील, जानिए इनका इतिहास

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top