Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand Leopard attack"

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

उत्तराखण्ड: पहाड़ में गुलदार का आतंक, जंगल में दस दिन बाद मिला महिला का क्षत-विक्षत शव

26 जनवरी को घर से रिश्तेदार के वहां जाने के लिए निकली थी महिला, सोमवार को जंगल में मिला शव..
alt="uttarakhand Leopard attack"

राज्य (uttarakhand) में इन दिनों जंगली जानवरों का आतंक छाया हुआ है। हालिया दिनों में राज्य के विभिन्न जिलों में जंगली जानवरों के द्वारा ग्रामीणों पर हमला करने की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है। जानवरों के इस हमले में न जाने कितने ही लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं और कितनों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। राज्य (uttarakhand) के सभी पर्वतीय जिलों की तरह पौड़ी में भी जानवरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज फिर पौड़ी जिले के कोटद्वार से आदमखोर गुलदार द्वारा एक वृद्धा पर हमला करने की खबर सामने आ रही है, जिसमें वृद्धा की मौत भी हो गई। बताया गया है कि मृतक वृद्धा बीते 26 जनवरी को अपने किसी रिश्तेदार के घर जाने को निकली थी लेकिन आज तक नहीं पहुंची। परिजनों द्वारा काफी खोजबीन करने के बाद वृद्धा का क्षत-विक्षत शव आज जंगल में मिला। वृद्धा की इस तरह हुई मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है और उनका रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड : पंचतत्व में विलीन हुए वीर जवान रमेश बहुगुणा, हर आँख हुई नम


प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य(uttarakhand) के पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार के रिखणीखाल ब्लाक के गजरीजाल गांव निवासी एक बुजुर्ग महिला सावित्री देवी पत्नी स्व. विजय सिंह बीते 26 जनवरी को अपने किसी रिश्तेदार से मिलने नजदीकी गांव बालाचौड़ गई थी। काफी दिनों बाद भी जब वृद्धा अपने रिश्तेदार के यहां से वापस लौटकर घर नहीं आई तो परिजनों ने ग्रामीणों के साथ वृद्धा की खोजबीन शुरू की। काफी खोजबीन के बाद ग्रामीणों को गजरजाल-बालाचौड़ के बीच पैदल रास्ते में वृद्धा का मफलर पड़ा हुआ दिखाई दिया। जिसके बाद किसी अनहोनी की आंशका से परिजनों ने नजदीकी पुलिस चौकी में वृद्धा के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। बताया गया है कि सोमवार को गांव की कुछ महिलाएं गजर जाल तोक के जंगल में चारा लेने गई थी। इसी दौरान उन्हें एक अधखाया शव जंगल में झाड़ियों के बीच पत्थरों की ओट में दिखाई दिया। जिस पर उन्होंने ग्रामीणों व पुलिस को सूचना दी उक्त शव सावित्री का ही निकला। शव पर घावों को देखने के बाद पुलिस का कहना है कि संभवतः वृद्धा पर गुलदार ने हमला किया है।


यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय स्तर के बाद अब पिथौरागढ़ की निवेदिता ने अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग में जीता स्वर्ण पदक

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top