Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="pregnant women gives delivery of baby fourth at once "

उत्तराखण्ड

देहरादून

उत्तराखण्ड: महिला ने एक साथ दिया चार बच्चों को जन्म, जच्चा बच्चा सभी स्वस्थ देखिए तस्वीरें

फिर एक चमत्कारिक घटना की गवाह बनी देवभूमि, ऋषिकेश एम्स में महिला ने दिया चार बच्चों को जन्म(delivery of baby)..alt="pregnant women gives delivery of baby fourth at once "

विज्ञान चाहे कितनी भी तरक्की क्यों ना कर ले फिर भी कुदरत के चमत्कार को समझ पाना उसके लिए असंभव ही है। आप भी इस खबर को पढ़कर चौंक उठेंगे और यही कहेंगे कि यह तो अपने आप में चमत्कार हैं। वैसे आपने जुड़वां बच्चों के पैदा होने की अधिकतर खबरें सुनी होंगी लेकिन चार बच्चों को एक साथ जन्म देने की खबर शायद ही कभी सुनी हों, सुनने में थोड़ा अजीब और चमत्कारी जरूर लग रहा है लेकिन यह सच है। जी हां… यह खबर राज्य के ऋषिकेश में स्थित एम्स अस्पताल से आ रही है जहां एक गर्भवती महिला ने एक साथ चार बच्चों को जन्म(delivery of baby) दिया है। आपने पौराणिक कहानियों में इस तरह की घटनाओं का वर्णन सुना होगा परन्तु वर्तमान समय में इस पर कोई आंख मूंद कर विश्वास नहीं कर सकता लेकिन हकीकत यही है। बता दें कि राज्य के उत्तरकाशी जिले की रहने वाली एक गर्भवती महिला ने आज(शनिवार) दोपहर एक साथ चार बच्चों को जन्म(delivery of baby) दिया है। सबसे खास बात तो यह है कि चारों ही नवजात बच्चे और उनकी मां पूरी तरह स्वस्थ हैं। यह चमत्कारिक खबर इस समय पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। बताया गया है कि हाई रिस्क केस होने की वजह से महिला को बीते रविवार को दून अस्पताल से एम्स ऋषिकेश में रेफर कर दिया था।


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: सरकारी अस्पताल ने किया था रेफर, 108 एंबुलेंस में कर्मियों ने कराया सुरक्षित प्रसव

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के उत्तरकाशी जिले की रहने वाली एक गर्भवती महिला ने ऋषिकेश स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में एक साथ चार बच्चों को जन्म ( delivery of baby) दिया है। बताया गया है कि चारों बच्चे और उनकी मां पूरी तरह स्वस्थ हैं। नवजात बच्चों में दो लड़के व दो लड़कियां हैं। जिनका वजन क्रमश: 1.6 किग्रा, 1.5 किग्रा, 1.35 किग्रा तथा 1.01 किलोग्राम है। सबसे खास बात यह है कि जहां आजकल अधिकांश बच्चों को वेंटीलेटर की आवश्यकता पड़ती है वहीं इनमें से किसी भी नवजात को वेंटीलेटर की आवश्यकता नहीं पड़ी। बता दें कि उक्त गर्भवती महिला को उत्तरकाशी जिला अस्पताल से दून अस्पताल रेफर किया गया था, जहां चिकित्सकों ने परिजनों को बताया था कि महिला का हिमोग्लोबिन काफी कम (टीएसएच 13) है, लिहाजा ऐसी स्थिति में डिलीवरी में नवजात शिशु को आइसीयू नीकु की आवश्यकता पड़ सकती थी। और यह सुविधा दून चिकित्सालय में उपलब्ध नहीं है। जिस कारण वह इसे हायर सेंटर एम्स रेफर कर रहे हैं। जहां शनिवार दोपहर को महिला ने आपरेशन से चार बच्चों को जन्म (delivery of baby)दिया।


यह भी पढ़ें- पौड़ी गढ़वाल: राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्त कर वापस गांव गई बहादुर राखी तो हुआ भव्य स्वागत

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top