Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: The terror of Guldar in the Pauri Garhwal, the woman working in the field made her morsel.

UTTARAKHAND GULDAR

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

उत्तराखंड: पहाड़ में गुलदार का आंतक, खेत में काम कर रही महिला पर हमला कर उतारा मौत के घाट

Pauri Garhwal: पहाड़ में गुलदार (Guldar) का आतंक, खेत में काम कर रही महिला को बनाया अपना निवाला, परिवार में मचा कोहराम, क्षेत्र में दहशत का माहौल…

राज्य में मानव वन्य जीव संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन राज्य के किसी ना किसी हिस्से से जंगली जानवरों द्वारा ग्रामीणों पर हमले की खबरें सुनने को मिल रही है। ऐसी ही एक दुखद खबर आज राज्य के पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal) जिले से सामने आ रही है जहां खेत पर काम कर रही एक महिला को आदमखोर गुलदार (Guldar) ने अपना निवाला बना लिया। घटना के बाद से जहां मृतका के परिवार में कोहराम मचा हुआ है और परिजनों की आंखों से अश्रुओं की धारा थमने का नाम नहीं ले रही हैं वहीं पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। दहशत ग्रामीणों ने वन विभाग के सम्मुख अपना आक्रोश प्रकट कर आदमखोर गुलदार को मारने के लिए क्षेत्र में शिकारी तैनात करने की मांग की है।‌ घटना से गुस्साए ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए वन विभाग ने गुलदार को आदमखोर घोषित कर गांव में शिकारी जॉय हुकिल को तैनात कर दिया। वन विभाग की टीम ने भी गांव में गश्त तेज कर दी है।
यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: पहाड़ में आदमखोर गुलदार ने खेत से घर आ रही 3 वर्षीय मासूम को बनाया अपना निवाला

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के चौबट्टाखाल तहसील के डबरा गांव निवासी गोदांबरी देवी रोज की तरह अन्य ग्रामीणों के साथ गुरुवार सुबह गांव से करीब सौ मीटर दूर अपने खेतों में काम करने ग‌ई थी। बताया गया है कि सुबह के करीब साढ़े दस बजे वहां पहले से घात लगाकर छिपे एक आदमखोर गुलदार ने अचानक गोदांबरी पर हमला कर दिया। गुलदार ने गोदांबरी की गर्दन पर झपट्टा मारकर न सिर्फ उसे चित कर दिया बल्कि वहीं बैठकर उसे खाने भी लगा। आसपास मौजूद ग्रामीणों के शोर शराबे का भी उस पर कोई असर नहीं पड़ा। अंत में ग्रामीणों ने जब गुलदार पर लाठी डंडों और पत्थरों की बरसात की तब जाकर कहीं वह मृतका के शव को मौके पर ही छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची वन विभाग की टीम के सम्मुख ग्रामीणों ने अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए गुलदार को मारने के लिए शिकारी तैनात करने की मांग की। यहां तक कि वन विभाग की टीम को मृतका के शव को उठाने भी नहीं दिया। अंत में वन विभाग ने ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गुलदार को आदमखोर घोषित कर शिकारी जॉय हुकिल को गांव में तैनात कर दिया। इतना ही नहीं गांव में पिंजरा भी लगा दिया, तब जाकर कहीं ग्रामीणों ने शव को उठाने दिया।

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: पहाड़ में घास लेने गई युवती को गुलदार ने बनाया निवाला, मिला क्षत-विक्षत शव

लेख शेयर करे

Comments

More in UTTARAKHAND GULDAR

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top