Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
3-year-old innocent child mahi died on the spot due to guldar attack in pauri Garhwal.

UTTARAKHAND GULDAR

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

उत्तराखंड: पहाड़ में आदमखोर गुलदार ने खेत से घर आ रही 3 वर्षीय मासूम को बनाया अपना निवाला

Pauri Garhwal: खेत से दादी के साथ घर को लौट रही थी तीन वर्षीय मासूम बच्ची, तभी गुलदार (Guldar) ने किया हमला..

राज्य में जंगली जानवरों का आतंक लगातार बढ़ता ही जा रहा है। आए दिन राज्य के किसी ना किसी हिस्से से ग्रामीणों पर जंगली जानवरों के हमले की दुखद खबरें सामने आ रही है जिसमें क‌ई बार ग्रामीणों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है। आज फिर राज्य के पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal) जिले के दुगड्डा क्षेत्र से ऐसी ही एक दुखद खबर सामने आ रही है जहां अपनी दादी के साथ खेत से घर लौट रही तीन वर्षीय मासूम बच्ची को एक आदमखोर गुलदार (Guldar) ने अपना निवाला बना लिया। हालांकि ग्रामीणों के शोर मचाने पर गुलदार बच्ची को झाड़ी में छोड़कर जंगल की ओर भाग गया परंतु तब तक बच्ची की मौत हो चुकी थी। बच्ची की मौत से जहां उसके परिवार में कोहराम मचा हुआ है वहीं पूरे क्षेत्र में भी दहशत के साथ ही मातम पसरा हुआ है। ग्रामीणों ने वध विभाग से आदमखोर गुलदार को पकड़ने के लिए क्षेत्र में पिंजरे लगाने या फिर गुलदार को मारने की मांग की है। बता दें कि गुलदार ने इसी क्षेत्र के बीते 11 मार्च को भी सरड़ा गांव निवासी एक बच्चे पर हमला किया था जिसमें बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया था।
यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: पहाड़ में गुलदार का आतंक, मासूम बच्ची को बनाया अपना निवाला, मिला क्षत-विक्षत शव

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के दुगड्डा नगर पालिका क्षेत्र से सटे गोदी बड़ी गांव निवासी चंद्रमोहन डबराल की तीन वर्षीय पुत्री माही बीते शनिवार शाम को करीब सात बजे के आसपास अपनी दादी के साथ खेत से घर की ओर लौट रही थी। बताया गया है कि माही गांव के अन्य बच्चों के साथ अपनी दादी से थोड़ा आगे चल रही थी इसी दौरान झाड़ियों में पहले से घात लगाकर छिपे एक आदमखोर गुलदार ने माही पर हमला कर दिया। इससे पहले कि माही के साथ चल रहे बच्चे और उसकी दादी कुछ समझ पाते गुलदार बच्ची को घसीटकर झाड़ियों की ओर ले गया। अन्य बच्चों के शोर मचाने पर माही की दादी के साथ ही अन्य ग्रामीणों ने गुलदार की ओर पत्थरों की बरसात कर दी। एक साथ ग्रामीणों का हो-हल्ला सुनने और क‌ई पत्थर लगने पर गुलदार माही को झाड़ियों में ही छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। जिस पर ग्रामीण माही को लेकर घर पहुंचे लेकिन घर पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने गुलदार की तलाश के लिए गांव के आसपास गश्त शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: जंगल घास लेने गई महिला पर हाथी ने हमला कर उतारा मौत के घाट

लेख शेयर करे

Comments

More in UTTARAKHAND GULDAR

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top