Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand latest road accident news"

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

उत्तराखण्ड: पहाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा, गहरी खाई में गिरी कार तीन लोगों की मौके पर ही मौत

uttarakhand: लाॅकडाउन के बावजूद सड़क पर दौड़ रही कार गिरी खाई‌ में, तीन लोगों की मौके पर ही मौत…

सरकार ने हर प्रकार से लाॅकडाउन की गाइडलाइन देकर लोगों को समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन कुछ लोगों के सर पर जूं तक नहीं रेंगा। ऐसे लोग कानून तोड़कर न सिर्फ खुद की जान को मुश्किल में डालते हैं बल्कि प्रशासन के काम को भी बढ़ाते हुए नजर आते हैं। ऐसी ही एक घटना राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले से सामने आ रही है। जहां लाॅकडाउन के बावजूद सड़क पर दौड़ रही एक कार के अचानक गहरी खाई में गिर जाने से उसमें सवार तीन लोगों की मौत हो गई जबकि कार में सवार एक अन्य घायल हो गई। हादसे की सूचना मिलने पर राजस्व पुलिस की टीम ने दुर्घटनास्थल पर पहुंचकर सभी मृतकों के शवों को खाई से बाहर निकाला और गम्भीर रूप से घायल व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी हालत नाज़ुक बताई जा रही है। अभी तक न तो दुर्घटना के कारणों का पता चल पाया है और ना ही इस बात का पता चल पाया है कि‌ कार सवार लाॅकडाउन के दौरान बिना परमिशन के कहा जा रहें थे?


यह भी पढ़ें- नहीं मिला प्रसव पीड़िता को रक्त तो उत्तराखण्ड पुलिस की एसआई निशा पांडे ने रक्त देकर बचाई जान

नंबर तक नहीं था कार पर, लिखा था अप्लाई फोर:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के पोखड़ा विकासखंड के रीठा खाल के पास बीते शनिवार की रात सड़क पर दौड़ रही एक कार अचानक गहरी खाई में गिर गई। कार के गहरी खाई में गिर जाने से उसमें सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कार में सवार एक अन्य व्यक्ति गम्भीर रूप से घायल हो गया। दूरस्थ क्षेत्र होने के कारण पुलिस को हादसे की सूचना काफी देरी से मिली, हादसे की सूचना मिलने पर दुर्घटनास्थल पर पहुंची एसडीआरएफ और राजस्व पुलिस की टीम ने आज सुबह तुरंत रेस्क्यू आपरेशन चलाकर स्थानीय लोगों की मदद से सभी मृतकों के शवों को खाई से बाहर निकाला और घायल को राजकीय चिकित्सालय सतपुली में भर्ती कराया। जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। मृतकों में सल्ड गांव निवासी मनोज कुमार पुत्र बलवीर सिंह एवं मेला राम पुत्र भगत राम के साथ ही बडे़त निवासी कैलाश चन्द पुत्र भगत राम शामिल है। घायल की पहचान क्षेत्र के ही बड़ेत गांव का निवासी संदीप कुमार पुत्र बलवीर सिंह के रूप में हुई है। सबसे बड़ी लापरवाही की बात तो यह है कार इतनी न‌ई थी कि उसे अभी नंबर तक नहीं मिला था, नंबर की जगह एप्लाई फोर लिखा हुआ था।


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: घने जंगल में दो वर्ष तक गुफा में जीवन बिताने के बाद अब मिला महिला को आशियाना

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top