Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand martyr: man Singh kharayat died in Jammu Kashmir

उत्तराखण्ड

ऊधमसिंह नगर

जम्मू कश्मीर में तैनात उत्तराखण्ड के जवान का डयूटी के दौरान निधन, परिजनों में मचा कोहराम

Uttarakhand Martyr: रक्षा सुरक्षा कोर में तैनात जवान का अकस्मात निधन, पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार, मृतक जवान बीते एक सितम्बर को ही छुट्टियां बिताकर लौटे थे ड्यूटी पर..

देवभूमि उत्तराखंड के लिए जम्मू-कश्मीर से दुखद खबर आ रही है जहां तैनात एक जवान का ड्यूटी के दौरान अचानक तबीयत बिगड़ जाने से निधन (Uttarakhand Martyr)हो गया। बताया गया है कि मृतक जवान राज्य के उधमसिंह नगर जिले के रहने वाले थे और वर्तमान में रक्षा सुरक्षा कोर (डीएससी) में तैनात थे। जवान के निधन की खबर मिलते ही मृतक के परिवार में कोहराम मच गया। बीते शनिवार को जैसे ही मृतक जवान का पार्थिव शरीर घर पहुंचा तो पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। जवान को तिरंगे में लिपटा देखकर परिजनों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। परिजनों के अंतिम दर्शनों के बाद मृतक जवान का अंतिम संस्कार बीते शनिवार को शारदा नदी के तट पर पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। बता दें कि मृतक जवान इससे पहले सेना की 18 कुमाऊं रेजिमेंट में रहकर भी देश सेवा कर चुके थे। मृतक जवान बीते एक सितम्बर को ही छुट्टियां बिताकर वापस ड्यूटी में लौटे थे।
यह भी पढ़ें- राजस्थान में तैनात उत्तराखंड के बीएसएफ जवान का निधन, पहाड़ में सैन्य सम्मान से हुई अंत्येष्टि

मृतक जवान इससे पहले सेना की कुमाऊं रेजिमेंट में भी दे चुके थे सेवा, अकस्मात निधन होने से परिजनों में मचा कोहराम..

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के उधमसिंह नगर जिले के खटीमा तहसील के छोटी बगुलिया निवासी मान सिंह खड़ायत पुत्र लक्ष्मण सिंह रक्षा सुरक्षा कोर (डीएससी) में तैनात थे। वर्तमान में उनकी पोस्टिंग जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती पठानकोट सांबा में थी। बताया गया है कि बीते 1 सितम्बर को ही छुटियां खत्म कर मान सिंह यूनिट में ड्यूटी देने पहुंचे थे लेकिन अचानक ही उनकी तबीयत बिगड़ गई, जिस पर उन्हें सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां बीते आठ सितंबर को उपचार के दौरान उन्होंने अपना दम तोड दिया। बता दें कि मृतक मान सिंह को  थल सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद रक्षा सुरक्षा कोर में नियुक्ति मिली थी। मृतक जवान अपने पीछे पत्नी मुन्नी देवी और तीन बच्चों धीरज, ऊषा एवं हेमा के साथ पूरे परिवार को रोते-बिलखते छोड़कर ग‌ए है। मृतक की दोनों बेटियों की शादी हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: लद्दाख जा रहे कुमाऊं रेजिमेंट के जवान का रेल हादसे में निधन, परिजनों में मचा कोहराम

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

VIDEO

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

Advertisement
To Top