Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: Subedar Lalit Singh Bhandari of chaukhutia almora, a soldier posted in Indian army, died in Ambala. Army Subedar lalit Bhandari

Uttarakhand Martyr

अल्मोड़ा

उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड: सेना में तैनात जवान का आकस्मिक निधन, मासूम बेटे के सिर से उठा पिता का साया

Army Subedar Lalit Bhandari: जालंधर में सूबेदार के पद पर तैनात थे मृतक ललित, छुट्टियों पर आ रहे थे घर, अंबाला में रेल पटरी के पास पड़ा मिला शव, परिवार में मचा कोहराम, सैन्य सम्मान से हुई अंत्येष्टि….

राज्य के अल्मोड़ा जिले से समूचे उत्तराखण्ड के लिए एक दुखद खबर सामने आ रही है जहां भारतीय सेना में तैनात एक जवान का छुट्टियों पर घर आते समय आकस्मिक निधन हो गया। मृतक जवान की पहचान सूबेदार ललित सिंह भंडारी के रूप में हुई है। बता दें कि मृतक जवान का पार्थिव शरीर अंबाला में रेल पटरी के निकट पड़ा मिला। परिजनों को जैसे ही दुखद समाचार मिला तो घर में कोहराम मच गया। बीते रोज जैसे ही उनका पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचा तो परिजनों का दुःख आंसूओं में उमड़ पड़ा। परिजनों के रूद्रन क्रंदन से वहां मौजूद हर शख्स की आंखें नम हो गई। परिजनों के अंतिम दर्शन के बाद मृतक जवान का अंतिम संस्कार महाकालेश्वर श्मशान घाट पर पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। इस दौरान जहां रानीखेत से आई कुमाऊं रेजीमेंट की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर उन्हें अंतिम विदाई दी वहीं सूबेदार ललित के भाई खीम सिंह और 13 वर्षीय बेटे हर्ष ने चिता को मुखाग्नि दी।
(Army Subedar Lalit Bhandari)
यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: पंजाब के पटियाला से दुखद खबर, नहर में डूबा सेना का जवान, परिवार में कोहराम

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया के मेहलचौरा गांव निवासी ललित सिंह भंडारी भारतीय सेना की सिगनल कोर में सूबेदार के पद पर कार्यरत थे। वर्तमान में उनकी तैनाती जालंधर में थी। बताया गया है कि बीते 31 अक्टूबर को वह जालंधर से छुट्टियों पर अपने घर आ रहे थे। परंतु ट्रेन के काठगोदाम स्टेशन पहुंचने पर रेलवे कर्मियों को उनका बैग तो सीट पर मिला लेकिन उनकी कोई खबर नहीं थी। जिस पर रेलवे कर्मियों ने उनके परिजनों को इसकी सूचना दी। उधर दूसरी ओर सेना के अधिकारियों ने उनका शव अंबाला से करीब एक किमी दूर रेल पटरी के निकट पड़े होने की जानकारी सूबेदार ललित के परिजनों को दी और उनका पार्थिव शरीर घर भेजने की बात कही। सेना के अधिकारियों से मिले इस दुखद समाचार को सुनकर परिवार में कोहराम मच गया। मृतक सूबेदार ललित अपने पीछे पत्नी सुनीता, माता-पिता और अन्य परिजनों‌ समेत 13 वर्षीय मासूम बेटे हर्ष को रोते बिलखते छोड़ गए हैं।
(Army Subedar Lalit Bhandari)

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: अग्निवीर भर्ती में असफल होने पर पहाड़ में युवक ने जहर खाकर दी अपनी जान

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के WHATSAPP GROUP से जुडिए।

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के TELEGRAM GROUP से जुडिए।

👉👉TWITTER पर जुडिए।

लेख शेयर करे

More in Uttarakhand Martyr

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement
Advertisement
To Top