Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
JP Bhattarai Limca book of records
फोटो देवभूमि दर्शन

उत्तराखण्ड

देहरादून

देहरादून: पढ़ाने की ऐसी विशेष शैली की लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में हो गया नाम दर्ज..

JP Bhattrai Limca book of records: अब अपनी विशेष तकनीक से छात्र छात्राओं को भी प्रशिक्षित कर रहे हैं शिक्षक जेपी भट्टाराई, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज करा चुके हैं अपना नाम….

JP Bhattrai Limca book of records
राज्य के होनहार युवा आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। अपनी काबिलियत के दम पर सफलता के ऊंचे ऊंचे मुकाम हासिल करने वाले राज्य के इन होनहार वाशिंदों से हम आपको आए दिन रूबरू कराते रहते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको राज्य के एक और ऐसे ही होनहार युवाओं से रूबरू कराने जा रहे हैं, जिन्होंने अपनी प्रतिभा के दम पर लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना दर्ज कराकर देश प्रदेश का मान बढ़ाया है। जी हां…. हम बात कर रहे हैं कि देहरादून जिले के रहने वाले जग प्रसाद भट्टाराई की, जिन्होंने 90 सेकेंड के भीतर केमिस्ट्री के 118 एलीमेंट्स का नाम बताकर हासिल की है। उनकी इस अभूतपूर्व उपलब्धि से जहां उनके परिजनों में हर्षोल्लास का माहौल है वहीं वह अपनी इस मेमोरी तकनीक से छात्र छात्राओं को भी कैमिस्ट्री एलिमेंट्स के नाम चुटकियों में याद करा रहे हैं।
यह भी पढ़ें- उत्तराखंड की सुनीता रजवार छा गई पंचायत वेब सिरीज़ में, जानिए कैसे हुई कैरियर की शुरुआत..

देवभूमि दर्शन से खास बातचीत

JP Bhattrai Dehradun
देवभूमि दर्शन से खास बातचीत में जग प्रसाद भट्टाराई यानि जेपी भट्टाराई ने बताया कि वह कौलागढ़ में अपना कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाते हैं। उन्होंने बताया कि बीते 19 फरवरी 2019 को उन्होंने अपना एक वीडियो बनाकर लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड के गुरुग्राम स्थित दफ्तर में भेजा था। इस विडियो में उन्होंने केमिस्ट्री के 118 एलीमेंट्स के नाम महज डेढ़ मिनट यानी नंबर सेकेंड में बोलकर दिखाए थे। वह कहते हैं कि उन्हें एलीमेंट के नाम ही नहीं बल्कि नंबर भी याद हैं और कोई भी नंबर बोलने के अगले ही पल वो एलीमेंट का नाम बता देते हैं। आपको बता दें कि लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड की टीम ने इस वीडियो का परीक्षण करने के उपरांत जेपी का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में जोड़ लिया। इसके लिए बाकायदा उन्हें एक प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया है। अब वह स्वयं द्वारा इजात की गई इस मेमोरी तकनीक से पिरियोडिक टेबल में मौजूद रासायनिक तत्वों के नाम अपने छात्र छात्राओं को भी चुटकियों में याद करा रहे हैं। जिससे जहां उनके छात्र छात्राओं की कैमिस्ट्री में पकड़ काफी मजबूत हो रही है वहीं उनकी इस विशेष तकनीक को भारत सरकार की ओर से कापीराइट सर्टिफिकेट भी दे दिया गया है।

यह भी पढ़ें- रूद्रपुर की ज्योति भट्ट का शास्त्रीय नृत्य में ऐसा हुनर अकादमी से संवार रही बच्चों का भविष्य

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के WHATSAPP GROUP से जुडिए।

👉👉TWITTER पर जुडिए।

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement Enter ad code here

PAHADI FOOD COLUMN


UTTARAKHAND GOVT JOBS

Advertisement Enter ad code here

UTTARAKHAND MUSIC INDUSTRY

Advertisement Enter ad code here

Lates News


देवभूमि दर्शन वर्ष 2017 से उत्तराखंड का विश्वसनीय न्यूज़ पोर्टल है जो प्रदेश की समस्त खबरों के साथ ही लोक-संस्कृति और लोक कला से जुड़े लेख भी समय समय पर प्रकाशित करता है।

  • Founder: Dev Negi
  • Address: Ranikhet ,Dist - Almora Uttarakhand
  • Contact: +917455099150
  • Email :[email protected]

To Top