Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: Ankita bhandari of Pauri Garhwal was forced to work under the burden of family responsibilities

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

अंकिता के 19 वर्ष की उम्र में नौकरी करने की मजबूरी जान आपके भी छलक पड़ेंगे आंसू

Ankita bhandari uttarakhand news: बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती थी अंकिता, खुद उठाना चाहती थी परिवार की जिम्मेदारी….

उम्र महज 19 वर्ष, परिवार की विपरीत परिस्थितियों को संभालने की उम्मीद से पहाड़ की एक लड़की नौकरी की तलाश में आई थी। भोली सी सूरत देखकर कुछ दरिंदों ने उसे अपने यहां काम पर तो रख लिया परंतु उसके द्वारा अपनी मान मर्यादा भंग करने से मना करने पर उन इंसानी भेड़ियों का ईमान डोल गया और देखते ही देखते उतार दिया एक मासूम किशोरी को मौत के घाट।…. निशब्द….. हमारे पास न तो आज कहने को कुछ हैं और ना ही उस बेटी एवं उसके परिवार की पीड़ा को बयां करने वाले वो शब्द! बस एक ही सवाल है आपसे और खुद से भी…. क्या यही है हमारा उत्तराखण्ड? देवभूमि उत्तराखंड? जहां हमारी मां बहन और बेटियां ही सुरक्षित नहीं है। बात अंकिता की करें तो मूल रूप से राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के डोभ श्रीकोट की रहने वाली अंकिता भंडारी बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती थी।
(Ankita bhandari uttarakhand news)
यह भी पढ़ें- जस्टिस फॉर अंकिता की आवाज से गूंज रही पहाड़ की धरती, CM धामी का बड़ा बयान आया सामने

परिवार की आर्थिकी सुधारने के लिए अंकिता ने खुद जिम्मेदारी उठाई थी। जिसके लिए उसने वनंत्रा रिजॉर्ट में काम करने का फैसला लिया। मगर उसे क्या पता था कि यह रिजार्ट उसकी जान ही ले लेगा। इस नृशंस हत्याकांड के बाद से जहां अंकिता के गांव में आक्रोश है वहीं अंकिता की मां सोना देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता वीरेंद्र भंडारी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए यमकेश्वर के चक्कर काट रहे हैं। बता दें कि अंकिता का परिवार कोरोना काल से अपने पैतृक गांव में ही रह रहा था। कोरोना काल में काम धंधा छिन जाने व कमरे का किराया न दे पाने के कारण अंकिता के पिता विरेन्द्र अपने पूरे परिवार को पौड़ी से लेकर अपने गांव लौट आए थे। अभी तक मिल रही जानकारी के मुताबिक अंकिता ने पौड़ी के एक प्रतिष्ठित स्कूल से इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करने के उपरांत देहरादून से होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया था। जिसके बाद अंकिता परिवार का खर्चा उठाने के लिए खुद नौकरी की तलाश में भटकने लगी। कुछ ही समय पहले उसने गंगा भोगपुर स्थित वनंत्रा रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के पद पर नौकरी ज्वाइन की थी। परंतु आज उसकी हत्या ने न केवल पूरे परिवार पर दुखों का पहाड़ तोड़ दिया है बल्कि इस घटना के बाद से पहाड़ की हर बेटी खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है।

(Ankita bhandari uttarakhand news)

यह भी पढ़ें- पौड़ी गढ़वाल: अंकिता भंडारी हत्या मामले में हुआ बड़ा बवाल वीडियो आई सामने

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के WHATSAPP GROUP से जुडिए।

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के TELEGRAM GROUP से जुडिए।

👉👉TWITTER पर जुडिए।

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top