Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand : Haldwani Megha Negi became flying Officer in Indian Airforce

उत्तराखण्ड

नैनीताल

हल्द्वानी

उत्तराखंड: पिता फेक्ट्री कर्मी और बेटी मेघा नेगी कड़ी मेहनत से बनी वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर

पिता है फैक्ट्री कर्मचारी, बेटी मेघा नेगी (Megha Negi) ने कड़ी मेहनत से एयरफोर्स कामन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) उत्तीर्ण कर हासिल किया मुकाम, बनेंगी वायुसेना (Indian Airforce) में फ्लाइंग अफसर..

देवभूमि की बेटियां आज न सिर्फ हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रही है बल्कि देश की सेनाओं का भी बढ़-चढ़कर हिस्सा बन रही है। देश की सेनाओं में भी अब राज्य की बेटियां ऊंचे-ऊंचे पदों पर पदस्थ होकर राज्य के बेटों के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है। आज हम आपको राज्य की एक और ऐसी ही होनहार बेटी से रूबरू कराने जा रहे हैं जिसका चयन भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग अफसर के पद पर हो गया है। जी हां.. हम बात कर रहे हैं राज्य के नैनीताल जिले की रहने वाली मेघा नेगी (Megha Negi) की, जिन्होंने आल इंडिया लेवल का एयरफोर्स कामन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) उत्तीर्ण कर लिया है। अब प्रशिक्षण पूरा करने के उपरांत जल्द ही मेघा वायुसेना (Indian Airforce) की वर्दी में नजर आएंगी। बता दें कि मेघा के पिता हल्दूचौड़ में स्थित एक प्राइवेट फैक्ट्री में नौकरी करते हैं। बेटी की इस अभूतपूर्व सफलता से काफी खुश उनका कहना है कि मेघा ने उन्हें आज एक न‌ई पहचान दी है।
यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: चाचा कारगिल शहीद और भतीजा बना भारतीय वायुसेना में पायलट क्षेत्र में खुशी की लहर

बतौर एनसीसी एयरविंग कैडेट मेघा कर चुकी हैं राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कैंपों का प्रतिनिधित्व, एनसीसी की वर्दी पहनने के बाद ही देखा वायुसेना में भर्ती होने का सपना:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के नैनीताल जिले के हल्द्वानी तहसील के रानीबाग निवासी मेघा नेगी का चयन भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग अफसर के पद पर हुआ है। इसके लिए वर्तमान माह से ही उनका प्रशिक्षण हैदराबाद वायुसेना अकादमी में शुरू होना है। प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक पूरा करने के उपरांत मेघा वायुसेना में फ्लाइंग अफसर बन जाएगी। बता दें कि वर्तमान में एमबीपीजी कालेज हल्द्वानी से बीएससी कर रही मेघा बचपन से पढ़ाई में अव्वल दर्जे की छात्रा है। कालेज में वह एनसीसी एयरविंग की कैडेट भी है। बताते चलें कि एनसीसी एयरविंग कैडेट के तौर पर कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय (सिंगापुर) कैंप का प्रतिनिधित्व कर चुकी मेघा के पिता जीवन सिंह नेगी एक फैक्ट्री कर्मी हैं जबकि उनकी माता कला नेगी एक कुशल गृहिणी हैं। मेघा बताती है कि एयर विंग में रहते हुए उन्हें वायु सेना में दिलचस्पी आने लगी। जिसके बाद ही उन्होंने वायुसेना में शामिल होकर देश के लिए कुछ करने का सपना देखा और वायु सेना की प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने लगी। तदोपरांत उन्होंने फरवरी 2020 में आयोजित एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) दिया, जिसका परीक्षा परिणाम बीते 31 दिसंबर को ही घोषित हुआ है। मेघा ने अपनी इस अभूतपूर्व सफलता का श्रेय अपने पिता जीवन सिंह नेगी, माता कला नेगी के साथ ही एमबीपीजी कालेज के एयर एनसीसी के फ्लाइंग आफिसर डा. अमित सचदेवा को दिया है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड- पहाड़ से की पढ़ाई और अब भारतीय वायुसेना में फ्लाईंग अफसर बनगें शोभित

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top