Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand News: CM Trivendra rawat declares summer capital Gairsain as the third division

उत्तराखण्ड

गैरसैंण

कुमाऊं गढ़वाल के बाद CM त्रिवेंद्र ने ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण को घोषित किया तीसरा मंडल

बजट पेश करने के बाद राज्य (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने घोषणा करते हुए गैरसैंण (Gairsain) को बनाया राज्य का तीसरा मंडल (Third Division)..

वो चार मार्च का ही दिन था जब बीते वर्ष 2020 में प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सभी को चौंकाते हुए गैरसैंण को राज्य (Uttarakhand) की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया था। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने बीते गुरुवार चार मार्च को एक बार फिर तीन नई घोषणाएं कर सभी को चौंका दिया। माना जा रहा था कि मुख्यमंत्री इस बार गैरसैंण (Gairsain) को नया जिला घोषित कर सकते हैं परन्तु मुख्यमंत्री ने अपनी घोषणाओं‌ के माध्यम से इससे भी बड़ा तोहफा गैरसैंण की जनता को दे‌ दिया। गुरुवार को बजट पेश करने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने गैरसैंण को राज्य का तीसरा मंडल (Third Division) बनाने की घोषणा की। जी हां.. अब उत्तराखण्ड में तीन कमिश्नरी होंगी। कुमाऊं, गढ़वाल और गैरसैंण। मुख्यमंत्री ने गैरसैंण में विकास का खाका खिंचते हुए घोषणा की कि गढ़वाल मंडल एवं कुमाऊं मंडल के दो-दो जिलों को शामिल कर गैरसैंण मंडल बनाया जाएगा। जिसका मुख्यालय गैरसैंण में होगा।
यह भी पढ़ें- उत्तराखंड के चार जिलों में खुलेगी चाय फैक्ट्री, सीएम ने भी दी अनुमति

चमोली, रूद्रप्रयाग, अल्मोड़ा एवं बागेश्वर जनपदों को शामिल कर गैरसैंण को बनाया जाएगा राज्य की नई कमिश्नरी:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बीते गुरुवार को बजट पेश करने के पश्चात गैरसैंण को मंडल बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि गैरसैंण मंडल में चमोली, रूद्रप्रयाग, अल्मोड़ा एवं बागेश्वर जनपदों को शामिल किया जाएगा। मंडल का मुख्यालय गैरसैंण ही होगा जहां गैरसैंण में कमिश्नर और डीआईजी स्तर का अधिकारी बैठेगा। सदन में जब मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की तो सत्ता पक्ष के सदस्यों ने मेज थपथपा कर इसका जोरदार समर्थन किया। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के साथ ही गढ़वाल अभी भी राज्य का सबसे बड़ा मंडल बना रहेगा, जिसमें अब पांच जिले शामिल होंगे जबकि कुमाऊं मंडल में जिलों की संख्या अब चार होगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दो अन्य घोषणाएं करते हुए कहा कि गैरसैंण के सुनियोजित नगरीय विकास के लिए एक महीने में टेंडर प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। उन्होंने भराड़ीसैंण में 20 हजार फलदार पौधे रोपकर यहां फल पट्टी विकसित करने की घोषणा भी की।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड सरकार ने दी सहमति, चौखुटिया में बनेगा एयरपोर्ट और अन्य जिलो में वायुसेना रडार केंद्र

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top