Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: Naina Adhikari from Nainital achieved first position in Ganga Kayak Festival 2021

उत्तराखण्ड

नैनीताल

उत्तराखण्ड की बेटी नैना अधिकारी ने गंगा कयाक महोत्सव 2021 में हासिल किया प्रथम स्थान

गंगा कयाक महोत्सव (Kayak Festival) 2021 में छाई नैना अधिकारी (Naina Adhikari), महिला बोट क्रॉस प्रो प्रतियोगिता में हासिल किया पहला स्थान

देवभूमि उत्तराखंड की प्रतिभावान बेटियां आज हर क्षेत्र में अपने प्रतिद्वंद्वियों को कड़ी टक्कर दे रही है। आज हम आपको राज्य की एक ऐसी ही बेटी से रूबरू करा रहे हैं जिसने गंगा कयाक महोत्सव 2021 (Kayak Festival) में महिला बोट क्रॉस प्रो प्रतियोगिता में पहला स्थान हासिल किया है। जी हां.. हम बात कर रहे हैं राज्य के नैनीताल जिले की रहने वाली नैना अधिकारी (Naina Adhikari) की, जो अपनी प्रतिभा के दम पर ऋषिकेश में आयोजित गंगा कयाक महोत्सव 2021 में महिला महिला बोट क्रॉस प्रो प्रतियोगिता की विजेता बन गई है। सबसे खास बात तो यह है कि इस प्रतियोगिता में राष्ट्रीय ही नहीं अंतराष्ट्रीय खिलाड़ियों ने भी प्रतिभाग किया था। बता दें कि नैना इससे पूर्व भी कई राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर चुकी है। उनका कहना है कि अब उनका लक्ष्य ओलंपिक में पदक हासिल करना है। नैना की इस उपलब्धि से जहां उनके परिवार में हर्षोल्लास का माहौल है वहीं पूरे क्षेत्र में खुशी की लहर है।
यह भी पढ़ें- विडियो: अपनी गायन शैली से राष्ट्रीय कला उत्सव में ईशा धामी ने उत्तराखंड को दिलाया प्रथम स्थान

इससे पूर्व भी राष्ट्रीय स्तर की क‌ई प्रतियोगिताओं में विजेता रह चुकी है नैना:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के नैनीताल जिले की रहने वाली नैना अधिकारी ऋषिकेश में आयोजित हुए गंगा कयाक महोत्सव 2021 में महिला बोट क्रॉस प्रो प्रतियोगिता की विजेता बन गई है। बता दें कि यह महोत्सव उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद द्वारा 17 से 19 फरवरी तक आयोजित किया गया था। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों के बीच नैना ने अपना जलवा दिखाकर न सिर्फ महिला बोट क्रॉस प्रो प्रतियोगिता की विजेता का खिताब हासिल किया बल्कि उन्होंने दो स्वर्ण और एक रजत पदक जीतकर महिला वर्ग की ओवरऑल चेम्पियन और बेस्ट इंडियन पैडलर की ट्राफी पर भी अपना कब्जा जमाया। बताते चलें कि नैना अधिकारी के पिता विजय अधिकारी पर्यावरण संरक्षण के लिए काम करते हैं। नैना बताती है कि उन्हें बचपन से ही साहसिक खेलों में रूचि थी। साहसिक खेलों में राज्य की इस बेटी के हुनर का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह पिछले छः वर्षों में न सिर्फ राष्ट्रीय स्तर की क‌ई प्रतियोगिताओं में विजेता रह चुकी है बल्कि एशिया की सबसे बड़ी कश्ती/ साहसिक खेल प्रतियोगिता में 2014 की सबसे कम उम्र की भारतीय महिला का पुरस्कार भी प्राप्त किया है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड के महज 8 वर्ष के सदभव रौतेला ने हासिल किया एशिया के नंबर वन शतरंज खिलाड़ी का खिताब

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top