Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: 8 Kumaon Regiment jawan Vineet Chaurakoti of champawat martyr in Pune.

Uttarakhand Martyr

उत्तराखण्ड

चम्पावत

उत्तराखंड में दौड़ी शोक की लहर, कुमाऊं रेजिमेंट के जवान विनीत ने पुणे में ली अंतिम सांस

Martyr Vineet Chaurakoti champawat: लंबे समय से दिल की बिमारी से जूझ रहे थे शहीद विनीत, बीते रोज पुणे के सैन्य अस्पताल में ली अंतिम सांस, परिवार में मचा कोहराम…

रोती बिलखती मां, बेसुध पिता और छोटे भाई की तस्वीरों को निहारती बहनों की आंखों से बहती अश्रुओं की धारा। इस वक्त ऐसा ही कुछ गमहीन माहौल है शहीद विनीत चौड़ाकोटी के परिवार का, जिन्होंने लंबी बिमारी के बाद बीते रोज पुणे के सैन्य अस्पताल में आखिरी सांस ली। बता दें कि शहीद विनीत मूल रूप से राज्य के चंपावत जिले के ढकना बडोला ग्राम पंचायत के चौड़ाकोटी गांव के रहने वाले थे। दस वर्ष पूर्व सेना की 8 कुमाऊं रेजिमेंट में भर्ती हुए विनीत, वर्तमान में पिथौरागढ़ जिले में तैनात थे। बताया गया है कि शहीद जवान विनीत का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह उनके पैतृक गांव पहुंचेगा। जिसके बाद पैतृक घाट पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।
(Martyr Vineet Chaurakoti champawat)
यह भी पढ़ें- मां भारती की रक्षा करते हुए शहीद हुआ उत्तराखण्ड का लाल, पहाड़ में दौड़ी शोक की लहर

अभी तक मिल रही जानकारी के अनुसार आठ कुमाऊं रेजीमेंट के जवान विनीत चौड़ाकोटी लंबे समय से दिल की बीमारी से जूझ रहे थे। इन दिनों पुणे के सैन्य अस्पताल में उनका उपचार चल रहा था। जहां बीते मंगलवार को उपचार के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। बताया गया है विनीत के बड़े भाई सतीश चौड़ाकोटी और चचेरे भाई कमल चौड़ाकोटी पूना में उनके साथ थे। बताते चलें कि महज 30 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस लेने वाले विनीत अपने पीछे माता-पिता के साथ ही एक बड़े भाई और दो बड़ी बहनों को रोते बिलखते छोड़ गए हैं। उनके पिता बसंत बल्लभ चौड़ाकोटी खेतीबाड़ी करते हैं जबकि उनकी मां धर्मा देवी गृहणी हैं। परिवार के सबसे छोटे सदस्य की शहादत की खबर से जहां परिजनों में कोहराम मचा हुआ है वहीं समूचे क्षेत्र में शोक की लहर है‌।
(Martyr Vineet Chaurakoti champawat)

यह भी पढ़ें- चम्पावत: शहादत की खबर से ही टूट गए सपने टूट गया वादा, राहुल कर गया था पत्नी से एक वादा

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के WHATSAPP GROUP से जुडिए।

उत्तराखंड की सभी ताजा खबरों के लिए देवभूमि दर्शन के TELEGRAM GROUP से जुडिए।

👉👉TWITTER पर जुडिए।

लेख शेयर करे

More in Uttarakhand Martyr

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top