Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: Now the cylinder will not have to be carried on the shoulder, gas will climb through the pipeline in 9 districts.

उत्तराखण्ड

देहरादून

उत्तराखंड: अब कंधे पर नहीं ढोना पड़ेगा सिलिंडर, इन 9 जिलों में पाइप लाइन से पहाड़ चढ़ेगी गैस

uttarakhand: सिलेंडर को कंधों पर रखकर ढोने से मिलेगी निजात, पर्वतीय जिलों में जल्द बिछेगी गैस की पाइप लाइन (Gas pipeline)…

इस तथ्य से हर कोई वाकिफ हैं कि पहाड़ के वाशिंदों की जिंदगी पर्वतों के समान ही कठोर होती है। जानवरों के लिए जंगल से सिर पर रखकर घास लाना हो या फिर सामान के साथ खड़ी चढ़ाई चढ़कर घर पहुंचना, ये सभी ऐसी समस्याएं जिनका सामना पहाड़ के वाशिंदों को लगभग रोज ही करना पड़ता है। हालांकि सरकार द्वारा उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर मुहैया कराए जाने के बाद पहाड़ की महिलाओं को जंगल से लकड़ियां लाने से तो निजात मिल गई है परन्तु सिलेंडर भराने के बाद उन्हें उसे सिर या कंधों पर रखकर खड़ी चढ़ाई पार करनी पड़ती है। आज हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके लागू होते ही सिलेंडर को कंधों पर रखकर ढोने से निजात मिल जाएगी। जी हां.. उत्तराखंड (uttarakhand) के 9 पर्वतीय जिलों में जल्द ही गैस पाइप लाइन (Gas pipeline) के जरिए घरों तक पहुंचाई जाएगी। यह निर्णय पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस रेगुलेटरी बोर्ड ने यह निर्णय लिया है।
यह भी पढ़ें- उत्तराखंड रोडवेज की बसें अब चलेंगी सीएनजी से तैयारी तेज, टेंडर निकाला, किराया हो सकता है कम

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के 9 पर्वतीय जिलों में जल्द ही गैस पाइप लाइन के जरिए घरों तक पहुंचाई जाएगी। बीते रोज विकासनगर-चकराता रोड स्थित एक होटल में 11वें सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (सीजीडी) बिडिंग राउंड रोड शो आयोजित किया गया। जिसमें रेगुलेटरी बोर्ड ने उत्तराखंड और भारत में सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन की बहुत सी नीतियों पर प्रकाश डाला। इस संबंध में पीएजीआरबी के सदस्य गजेंद्र सिंह द्वारा बताया गया कि उत्तराखंड के नौ पर्वतीय जिलों पौड़ी गढ़वाल, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, टिहरी गढ़वाल, पिथौरागढ़, चंपावत, अल्मोड़ा, चमोली और बागेश्वर में सिटी गैस वितरण योजना के तहत गैस पाइप लाइन बिछाए जाने का फैसला लिया गया है। इस योजना से इन जिलों की 39 लाख आबादी को लाभ मिलेगा। इस योजना के बाद उत्तराखंड के सौ प्रतिशत क्षेत्र और सौ प्रतिशत आबादी को सिटी गैस वितरण नेटवर्क के अंतर्गत कवर किया जाएगा। बता दें कि पाइप लाइन बिछाने का कार्य जिले की आबादी के आधार पर किया जाएगा जिस जिले आबादी ज्यादा होगी वहां पर गैस पाइपलाइन बिछाने का कार्य पहले करके उस क्षेत्र को कवर किया जाएगा।
यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: यमुनोत्री धाम की यात्रा अब होगी बेहद सुगम, रोप-वे से 3 घंटे का सफर होगा मात्र 9 मिनट में

विदित हो कि वर्तमान में राज्य के चार जिलों ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार, देहरादून और नैनीताल में पहले से ही गैस पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है। जल्द ही यहां के लोगों को पाइप लाइन के जरिए घर तक गैस उपलब्ध होनी शुरू हो जाएगी। इसी योजना के अंतर्गत हरिद्वार में गैस पाइप लाइन के माध्यम से लोगों के किचन तक गैस पहुंच रही है। अगले साल मार्च तक देहरादून में भी करीब 16 हजार उपभोक्ताओं को सिटी गैस वितरण के तहत पाइप से गैस उपलब्ध कराना शुरू कर दी जाएगी ।




यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: गांव में पहली बार पहुंची गाड़ी तो खुशी से झूम उठे ग्रामीण, तीन दशक से थी सड़क की मांग



यूट्यूब पर जुड़िए

लेख शेयर करे

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

Advertisement
To Top