Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
9 years old child lavi singh died in champwat district tankapur due to snake bite

उत्तराखण्ड

चम्पावत

उत्तराखंड: सांप के काटने से नौ वर्षीय बच्चे की मौत, बुझ गया घर का इकलौता चिराग

चम्पवात(Champwat) -टनकपुर(Tankapur) में  सांप के काटने(Snake Bite) से नौ वर्षीय बच्चे की मौत, बुझ गया घर का इकलौता चिराग, दो बहनो का इकलौता भाई था लवी

राज्य के चम्पावत(Champwat) जिले के टनकपुर(Tankapur) से एक बेहद दुखद खबर आ रही है जहां सांप के काटने (Snake Bite) से एक नौ साल के मासूम बच्चे की मौत हो गई। मासूम की मौत की खबर से जहां परिजनों में कोहराम मच गया वहीं पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। जिसने भी इस दुखद खबर को सुना उसकी आंखों में आसूं आ ग‌ए। गमहीन माहौल में रविवार को मृतक मासूम का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। बताया गया है कि मृतक मासूम दो बहनों का इकलौता भाई था। क्षेत्रवासियों का कहना है कि मृतक मासूम का परिवार आर्थिक रूप से काफी कमजोर है। उन्होंने वन विभाग से पीड़ित परिवार को यथाशीघ्र मुआवजा देने की मांग की है। उधर हादसे के बाद से मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
यह भी पढ़ेउत्तराखंड में सनसनीखेज वारदात: बदमाशो ने BJP पार्षद पर गोलियां चलाकर उतारा मौत के घाट

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के चम्पावत जिले के टनकपुर के ज्ञानखेड़ा गांव निवासी जगदीश सिंह राणा के नौ वर्षीय पुत्र लवी सिंह को शनिवार रात एक सांप ने डस लिया। बच्चे की चीख-पुकार सुनकर पहुंचे परिजनों को जैसे ही इस बात का पता चला उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। आनन-फानन में परिजन लवी को लेकर संयुक्त चिकित्सालय पहुंचे लेकिन उससे पहले ही मासूम दम तोड चुका था। जिस कारण चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया गया है कि घटना से सहमे परिजनों को डाक्टरों की बात पर विश्वास नहीं हुआ जिस पर वह उसे खटीमा ले गए। वहां भी बच्चे को मृत बताए जाने पर वे उसे वापस लेकर घर लौट गए। मृतक लवी चौथी कक्षा का छात्र था। इस दुखद घटना से जहां लवी की मां और उसकी दोनों बहनों का रो-रोकर बुरा हाल है वहीं मेहनत मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण करने वाले मृतक के पिता भी गुमसुम है। आसपास के ग्रामीण परिजनों को ढांढस बंधाने की कोशिश कर रहे हैं परन्तु लवी का मासूम सा चेहरे को देखकर वे भी अपनी आंखों अश्रुओं की धारा को नहीं रोक पा रहे हैं। उनका कहना है कि इस दुखद हादसे ने पीड़ित परिवार से सब कुछ छीन लिया है।
यह भी पढ़े- उत्तराखंड: बदरी -केदार मंदिर समिति के पूर्व अध्यक्ष मोहन थपलियाल की सड़क हादसे में मौत

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top