Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand news: indian army soldier Bahadur Dhoni from champawat wins gold medal in Dhaka Bangladesh.

उत्तराखण्ड

चम्पावत

गौरवान्वित हुआ उत्तराखंड, सेना में तैनात बहादुर ने अंतरराष्ट्रीय मैराथन में जीता स्वर्ण पदक

उत्तराखंड (Uttarakhand) के लिए गौरवशाली पल, भारतीय सेना (Army) में तैनात बहादुर सिंह धौनी (Bahadur Dhoni) ने अंतरराष्ट्रीय मैराथन में जीता स्वर्ण पदक, पहाड़ में भी दौड़ी खुशी की लहर..

राज्य (Uttarakhand) के वाशिंदे आज देश-विदेश में अपना परचम लहरा रहे हैं। आज हम आपको राज्य के ही एक ऐसे नौजवान से रूबरू कराने जा रहे हैं जो न केवल भारतीय सेना (Army) में रहकर मां भारती की सेवा कर रहा है बल्कि अपनी कुशल प्रतिभा के दम पर समूचे विश्व में देश-प्रदेश का नाम भी रोशन कर रहा है। जी हां.. हम बात कर रहे हैं राज्य के चम्पावत जिले के रहने वाले एवं वर्तमान में भारतीय सेना में तैनात बहादुर सिंह धौनी (Bahadur Dhoni) की, जिन्होंने बीते रविवार को बांग्लादेश के ढाका में हुई 42.195 किमी की शेख मुजीब ढाका मैराथन में स्वर्ण पदक जीतकर देश-प्रदेश के साथ ही भारतीय सेना का मान भी बढ़ाया है। बताया गया है कि बहादुर ने यह मैराथन दो घंटे 21 मिनट और 40 सेकेंड में पूरी की, जिसके लिए उन्हें बांग्लादेश के सैन्य प्रमुख ने स्वर्ण पदक से नवाजा है। बहादुर की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से जहां उनके गृहक्षेत्र में हर्षोल्लास का माहौल है वहीं पूरे क्षेत्र में खुशी की लहर है।
यह भी पढ़ें- राष्ट्रीय स्तर के बाद अब पिथौरागढ़ की निवेदिता ने अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग में जीता स्वर्ण पदक

बहादुर इससे पहले बेल्जियम, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया में हुई मैराथन में भी कर चुके हैं शानदार प्रदर्शन:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के चम्पावत जिले के लोहाघाट ब्लॉक के धौनी सीलिंग निवासी बहादुर सिंह धौनी टू नागा रेजिमेंट केआरसी के आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट पुणे में एएसआई पद पर तैनात हैं। उन्होंने बीते रविवार को बांग्लादेश के ढाका में हुई 42.195 किमी की शेख मुजीब ढाका मैराथन में स्वर्ण पदक जीत लिया है। बता दें कि बहादुर इससे पहले बेल्जियम, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया में हुई मैराथन में भी शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं। इतना ही नहीं उनका सर्वश्रेष्ठ रिकार्ड 2 घंटे 19 मिनट 12 सेकेंड का है जो उन्होंने बीते 19 नवंबर 2018 में प्रयागराज में हुई 34वीं अखिल भारतीय इंदिरा मैराथन में बनाया था। बहादुर ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने प्रशिक्षक केसी रामू एवं संस्थान के साथ ही अपने लोक देवता चौखाम बाबा को दिया है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड : विजय पहाड़ से भागा शहर फिर होटल में किया काम और अब दौड़ में जीता स्वर्ण पदक

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top