Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
alt="uttarakhand siblings on NDTV"

उत्तराखण्ड

पौड़ी गढ़वाल

अपने इस सुंदर गीत के द्वारा राष्ट्रीय मीडिया पर छाए उत्तराखण्ड के युवा, हर कोई कर रहा तारीफ

राष्ट्रीय मीडिया में छाए उत्तराखण्ड (uttarakhand) निवासी भाई-बहन, हर कोई कर रहा तारीफ..

वैसे तो लाॅकडाउन से आज हर कोई परेशान हैं परन्तु फिर भी इसने लोगों को अपने बारे में जानने, अपनी इच्छाएं पूरी करने तथा भागदौड़ भरी जिंदगी में गुम हो चुकी स्कूल-कालेज की यादों को फिर से ताजा करने का काम किया है। लाॅकडाउन के कारण जहां लोग घर बैठकर अपनी मनपसंद चीजें जैसे किताबें पढ़ना, कविता या डायरी लिखना, न‌ई-न‌ई चीजें बनाना कर पा रहे हैं वहीं लाॅकडाउन ने लोगों के अंदर छुपी हुई प्रतिभा को भी उजागर कर निखारने का काम किया है। आज हम आपको राज्य (uttarakhand) में रहने वाले भाई-बहन की एक ऐसी ही जोड़ी से रूबरू करा रहे हैं, जिनके द्वारा कोरोना पर गाए हुए गीत को न सिर्फ देश-विदेश में पसंद किया जा रहा है बल्कि ये दोनों इन दिनों राष्ट्रीय मीडिया में भी छाए हुए हैं। जी हां.. हम बात कर रहे हैं राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के रहने वाले व्याख्या वशिष्ठ और उसके भाई हर्षवर्द्धन वशिष्ठ की, जिनके द्वारा गाए हुए गीत को राष्ट्रीय मीडिया के एक इलैक्ट्रोनिक चैनल ने अपने कार्यक्रम में प्रमुखता से शामिल किया। आज हम आपको इस चैनल के उसी कार्यक्रम की विडियो दिखाने जा रहे हैं।


यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड: कमलेश के शव को वापस लौटाए जाने पर हाईकोर्ट ने लगाई फटकार, नोटिस जारी

मां है आर्मी स्कूल में टीचर जबकि पिता है सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य (uttarakhand)  के पौड़ी गढ़वालजिले के लैंसडाउन निवासी व्याख्या वशिष्ठ और उसके भाई हर्षवर्द्धन वशिष्ठ ने कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही जंग को समर्पित एक गीत “हम सब एक हैं” को गिटार की तान में गाया है। इस गीत को न केवल सोशल मीडिया में काफी पसंद किया जा रहा है बल्कि राष्ट्रीय मीडिया के एक इलेक्ट्रॉनिक चैनल ने अपने कार्यक्रम में भी प्रमुखता से शामिल किया है। बता दें कि दोनों ही भाई बहन आर्मी स्कूल में पढ़ते हैं, जहां व्याख्या कक्षा 12वीं की छात्रा है वहीं हर्षवर्द्धन कक्षा नौ का छात्र है। सबसे खास बात तो यह है कि दोनों ने इस गीत को खुद ही लिखा और खुद ही संगीतबद्ध भी किया है। इस गीत में दोनों ने अपनी बेहतरीन जुगलबंदी के साथ दुनिया को लाॅकडाउन का सख्ती से पालन करने का संदेश दिया है। बताते चलें कि इन नन्हें गायकों की माता हेमा शर्मा सैनिक स्कूल लैंसडौन में शिक्षिका हैं जबकि इनके पिता तारा चंद्र शर्मा सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर तैनात हैं। दोनों भाई बहनों की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से पूरे क्षेत्र में हर्षोल्लास का माहौल है।



यह भी पढ़ें- उत्तराखंड पुलिस के कांस्टेबल अनिल ने वृद्ध महिला के असहाय परिवार को गोद लेकर पेश की मिशाल

लेख शेयर करे

Comments

More in उत्तराखण्ड

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top