Connect with us
Uttarakhand Government Happy Independence Day
Uttarakhand: Dr. Manisha Joshi became Assistant Professor of Physics at IIT Delhi

अल्मोड़ा

उत्तराखण्ड

उत्तराखंड: बिन्ता गांव की मनीषा जोशी बनी IIT दिल्ली में भौतिक विज्ञान की असिस्टेंट प्रोफेसर

 गौरवान्वित हुआ उत्तराखंड, देवभूमि की बेटी मनीषा (Manisha Joshi) बनी आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) में असिस्टेंट प्रोफेसर, परिवार के साथ-साथ पूरे क्षेत्र में खुशी की लहर..

देवभूमि उत्तराखंड के युवा आज देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं, अपनी प्रतिभा का जलवा दिखा कर न सिर्फ खुद की वाह-वाही बटोर रहे हैं बल्कि समूचे उत्तराखंड का गौरव भी बढ़ा रहे हैं, बात अगर राज्य के प्रतिभावान युवाओं की कि जाए तो इसमें राज्य की बेटियों को कैसे भुलाया जा सकता है ,देवभूमि उत्तराखंड की बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। आज फिर एक बार राज्य की एक बेटी ने समूचे उत्तराखण्ड का नाम रोशन किया है। जी हां.. हम बात कर रहे हैं राज्य के अल्मोड़ा जिले के बिंता गांव निवासी डॉक्टर मनीषा ठकुराठी जोशी (Manisha Joshi) की, जिनका चयन आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) में भौतिक विज्ञान के असिस्टेंट प्रोफेसर के रुप मे हुआ है, मनीषा के असिस्टेंट प्रोफ़ेसर बनने से जहां उनके परिवार में हर्षोल्लास का माहौल है वहीं पूरे क्षेत्र में खुशी की लहर है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि मनीषा ने अपनी इस अभूतपूर्व उपलब्धि से न सिर्फ बिंता गांव का नाम रोशन किया है बल्कि अल्मोड़ा जनपद के साथ-साथ समूचे उत्तराखण्ड को भी गौरवान्वित होने का सुनहरा अवसर प्रदान किया है।
यह भी पढ़ें- उत्तराखण्ड के लिए गौरवशाली पल, दिल्ली यूनिवर्सिटी के डीन बनाए गए दीवान सिंह रावत

राज्य के पिथौरागढ़ जिले में बीता मनीषा का बचपन, वहीं से की इंटरमीडिएट की पढ़ाई, हाल ही में लौटी थी विदेश से पढ़ाई पूरी कर:-

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल रूप से राज्य के अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट क्षेत्र की बिंता गांव निवासी डॉक्टर मनीषा ठकुराठी जोशी, आईआईटी दिल्ली मे भौतिक विज्ञान के असिस्टेंट प्रोफेसर के रुप में चयनित हुई है। बता दें कि बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल मनीषा का बचपन राज्य के पिथौरागढ़ जिले में बीता। इंटरमीडिएट तक की शिक्षा पिथौरागढ़ से ही प्राप्त करने के उपरांत उन्होंने पंतनगर यूनिवर्सिटी से एमएससी की और उसके बाद आईआईएससी बेंगलुरु से पीएचडी करने के पश्चात वह पढ़ाई के लिए विदेश चली गई। जहां उन्होंने हाल ही में स्विट्ज़रलैंड की विख्यात यूनिवर्सिटी वासेल तथा वाटरलू यूनिवर्सिटी कनाडा से अपनी पढ़ाई पूरी की। जिसके बाद अब वह आईआईटी दिल्ली में भौतिक विज्ञान की असिस्टेंट प्रोफेसर बन गई है। मनीषा की इस उपलब्धि से जहां उनकी मॉ शंकुन्तला देवी और पिता होशियार सिंह काफी खुश हैं। वहीं उनकी सास कलावती जोशी सहित पूरे परिवार में हर्षोल्लास का माहौल है। मनीषा को बधाई देने वालों के लगातार फोन आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें- उतराखण्ड के लिए गौरवशाली पल फ्रांस से राफेल लेकर आए दीपक चौहान, नैनीताल से की है पढ़ाई

लेख शेयर करे

Comments

Continue Reading
You may also like...

More in अल्मोड़ा

Trending

Advertisement

RUDRAPRAYAG : DM VANDANA CHAUHAN

UTTARAKHAND CINEMA

Advertisement

CORONA VIRUS IN UTTARAKHAND

VIDEO

Advertisement
To Top